ढाई फुट की इस लड़की की सक्सेस स्टोरी पढ़े हर युवा, जिंदगी जीने और मंजिल पाने का तरीका सीख जाओगे

ढाई फुट की इस लड़की की सक्सेस स्टोरी पढ़े हर युवा, जिंदगी जीने और मंजिल पाने का तरीका सीख जाओगे
mppsc 2016 final result

उपर फोटो में दिखने वाली लड़की का कद महज ढाई फुट है और वो पिछले 8 सालों से बीमार भी है, लेकिन उसका हौसला माउंट एवरेस्ट से भी ऊंचा है। इस लड़क शहर की होनहार मिनी अग्रवाल है और इसने ने वो काम कर दिखाया है जो लोग सोच भी नहीं सकते।

ग्वालियर। उपर फोटो में दिखने वाली लड़की का कद महज ढाई फुट है और वो पिछले 8 सालों से बीमार भी है, लेकिन उसका हौसला माउंट एवरेस्ट से भी ऊंचा है। इस लड़क शहर की होनहार मिनी अग्रवाल है और इसने ने वो काम कर दिखाया है जो लोग सोच भी नहीं सकते। इस लड़की की कहानी हर उस शख्य को पढऩा चाहिए जो अपनी किसी बात या जिंदगी को लेकर या फिर अपनी शारीरिक कमी को लेकर निराशा में जीते हैं। इसकी कहानी पढ़कर वो जीना सीख जाएंगे।

 दौलतगंज में रहने वाली मिनी ने पीएससी में कामयाबी हासिल की है, पर उनके लिए सफलता का ये सफर आसान नहीं था। महज ढ़ाई फीट का कद और नि:शक्तता के चलते उन्हें यहां तक पहुंचने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मिनी का कहना है कि इंसान में कुछ अलग करने की चाहत हो तो कोई भी परेशानी छोटी हो जाती है।




वह बताती हैं कि 12 साल से लेकर 20 साल तक वह बिस्तर पर ही रहीं, लगातार आठ साल तक चलने-फिरने लायक भी नहीं थी। चार बार मेजर ऑपरेशन भी हुए, लेकिन फिर भी हिम्मत नहीं हारी और पढ़ाई जारी रखी। 2012 में मिनी सब-रजिस्ट्रार के पद पर वेटिंग लिस्ट में रहीं, 2014 में चयन लेबर ऑफिसर के पद पर हुआ। 2016 में उन्हें असिस्टेंट डायरेक्टर उद्योग प्रबंधक का पद मिला है। 

Image may contain: 1 person

शिवपुरी की बिटिया बनी डिप्टी कलेक्टर अब आईएएस पर नजर

 राज्य सेवा परीक्षा-2016 (पीएससी) की मेरिट में कोलारस की अंकिता जैन ने तीसरा स्थान हासिल किया। इंदौर में रहकर श्रम अधिकारी की ट्रेनिंग ले रही अंकिता ने बताया कि तीसरी बार एमपीपीएससी दी थी। पहली बार 2014 में श्रम अधिकारी के पद पर चयन हुआ। अंकिता का लक्ष्य आईएएस अधिकारी बनना है। अंकिता के पिता विजय जैन सर्वशिक्षा अभियान में सब इंजीनियर हैं, जबकि छोटी बहन अंजलि जैन बंगलौर में रिसर्च अधिकारी है।




कलेक्शन एजेेंट का बेटा बना डिप्टी कलेक्टर
श्योपुर. राज्य सेवा परीक्षा-2016 (पीएससी) में श्येापुर के शुभम शर्मा का भी डिप्टी कलेक्टर पद पर चयन हुआ है। शुभम श्योपुर के यूको बैंक के कलेक्शन एजेंट श्यामलाल शर्मा व सहायक शिक्षिका रमा शर्मा के पुत्र हैं।


Image may contain: 1 person, close-up
शुभम ने सफलता का श्रेय माता पिता को दिया है। शुभम इससे पूर्व भी वर्ष 2013 के एमपीपीएससी में सहकारिता निरीक्षक और वर्ष 2015 में महिला बाल विकास विभाग के सहायक संचालक पद पर  चयनित हो चुके हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned