नहर में फंसा मिला 10 वीं के लापता छात्र का शव

दिन से लापता 10 वीं के छात्र की हत्या

By: Puneet Shriwastav

Published: 10 Jan 2019, 11:19 PM IST

पुनीत श्रीवास्तव.ग्वालियर। छह दिन पहले कोचिंग जाते समय अगवा हुए 10 वीं के छात्र सत्यम जादौन (१५) की हत्या हो गई है। किडनेपर्स ने उसे अगवा करने के कुछ घंटे बाद ही जौरा, मुरैना ले जाकर नहर में फेंक दिया था। हत्यारा सत्यम का रिश्तेदार राहुल उर्फ विवेक जादौन और उसका भांजा सुमित है।

दोनों 4 जनवरी की रात को सत्यम के घर ही रुके थे। हत्या का प्लान विवेक ने बनाया क्योंकि उसे शक था कि सत्यम उसके राज खोलकर बदनाम कर सकता है।शक नहीं हो इसलिए हत्यारा सत्यम के परिवार के साथ मिलकर उसे तलाशने का नाटक कर रहा था। उन लोगों पर सत्यम को किडनेप का दोषी ठहराने की फिराक में था जिनसे उसकी दुश्मनी रही है। हत्या की असली वजह को लेकर पुलिस चुप्पी साध गई है।

गोवर्धन कॉलोनी 5जनवरी की सुबह जयपाल जादौन के बेटे सत्यम (15) का शव छह दिन बाद जौरा की नहर में मिल गया है। सत्यम जिंदा नहीं है खुलासा हत्यारे विवेक जादौन ने बुधवार रात को ही गोला का मंदिर पुलिस से किया था। इंट्रोगेशन में हत्यारे ने बताया कि सत्यम को मारने में उसके साथ भांजा सुमित भी शामिल था। सत्यम को इसलिए मारा क्योंकि वह उसके चरित्र के बारे में राज जान चुका था। उनका खुलासा करने पर वह बदनाम हो सकता था। इसलिए प्लानिंग से उसे अगवा कर हत्या की। रिश्ते के मौसा जयपाल जादौन इंदौर में नौकरी करते हैं। यहां उनकी पत्नी नीतू बेटे शिवम और सत्यम के साथ अकेली रहती है। परिवार की देखभाल के बहाने विवेक अक्सर आता रहता था।

4 जनवरी की रात को भांजे सुमित के साथ सत्यम के घर आया। सुबह मुरैना लौटते वक्त उसे दीनदयाल नगर में कोचिंग छोडऩे के बहाने अपनी कार से दोनों साथ ले गए। लेकिन यहा ंसत्यम को कार से नहीं उतारा उसे घुमाने के बहाने मुरैना होते हुए जौरा, सबलगढ़ ले जाकर नहर किनारे कार रोकी। सत्यम को भी नीचे उतार कर नहर के पास खड़ा किया, फिर विवेक ने उसे लात मारकर नहर में फेंक दिया। सत्यम तैरना नहीं जानता था तो गहरी नहर में बहता चला गया। हत्या के बाद दोनों हत्यारे उसका बैग और मोबाइल लेकर चले गए। गुरुवार को पुलिस ने उनकी निशानदेही पर जौरा की नहर से सत्यम का शव और हत्यारों के घर से उसका बैग और मोबाइल बरामद किया।

हत्या की वजह को लेकर चुप

हत्यारों ने नादान सत्यम को क्यों मारा सबलगढ़,जौरा में वजह को लेकर कई तरह की बाते हैं। उधर हत्यारा भी पुलिस को बता चुका है कि हत्या की असली वजह क्या है। लेकिन मामला सामने आने के बाद पुलिस हत्या की वजह को लेकर चुप्पी साधे है। पुलिस का कहना है कि हत्या आरोपी विवेक जादौन अपराधी है। इससे पहले भी मुरैना में कई संगीन वारदातें कर चुका है। उसकी बात पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर सकते। इसलिए तस्दीक की जा रही है।

सब इंस्पेक्टर को किडनेप कर चुका हत्यारोपी

हत्यारोपी राहुल उर्फ विवेक जादौन 18 अक्टूबर 2016 को मुरैना में महिला सबइंस्पेक्टर को मुरैना पुलिस कंट्रोल रुम के पास से अगवा किया था और करीब 10 किलोमीटर तक उन्हें बंधक बनाकर जौरा ले जाकर छोडा था। पीडि़त महिला सबइंस्पेक्टर ने बताया कि गुंडा विवेक ग्वालियर से युवती को अगवा कर लाया था। उस वक्त वह कंट्रोल रुम मुरैना के सामने वाहन चेकिंग कर रही थी। विवेक के साथ उसका साथी भी था। चौराहे पर आकर गुंडे ऑटो वाले से लड रहे थे तो वह वहां पहुंची। उसकी कार में बेहोशी की हालत में युवती बैठी दिखी तो पूछताछ की इस पर गुंडे उन्हें भी जबरिया कार में घसीट कर ले गए।

बेकसूरों को फंसाने की कोशिश

सत्यम को अगवा करने के बाद विवेक की प्लानिंग उससे दुश्मनी रखने अत्येन्द्र, टीटू, विकास और देवेन्द्र गुर्जर को अगवा करने की थी। इसलिए सत्यम की हत्या करने के बाद आरोपी चार दिन तक रोज गोला का मंदिर थाने आकर पुलिस से कहता रहा कि यह लोग सत्यम को पहले अगवा कर चुके हैं। उस केस में राजीनामा करने के लिए उसे दोबारा अगवा करने की धमकी दे रहे हैं। सत्यम अपनी मां को इस बारे में बता चुका है। इन लोगों पर अपहरण का केस दर्ज करवाने के लिए हत्यारोपी दो दिन पहले राजनीति दवाब बनाने की कोशिश भी कर चुका है।

कॉल डिटेल से खुलासा

सत्यम की हत्या में विवेक उर्फ राहुल शामिल है इसका खुलासा सत्यम की कॉल डिटेल से हुआ। उसमें सत्यम की सबसे ज्यादा बातचीत विवेक से ही होना सामने आई। हत्यारे को पता था कि पुलिस मोबाइल लोकेशन से सत्यम को तलाशेगी इसलिए उसने 4 जनवरी की रात को सत्यम के घर आकर उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर दिया था।

 

 

 

इन सवालों में फंसी पुलिस

-सत्यम की हत्या का राजफाश होने के बाद पुलिस हत्या की वजह नहीं बता सकी है

-जबकि उसका शव मिलने के बाद सत्यम के गांव में भी चर्चा है कि सत्यम करीब पांच साल से विवेक के तमाम राज दबाए था। फिर उसकी हत्या क्यों की।

- विवेक के अलावा हत्या में और कौन शामिल है।

शव बरामद, आरोपियों से पूछताछ

हत्यारोपियों की निशानदेही पर छात्र का शव जौरा की नहर से बरामद किया। हत्या में और कौन शाामिल है इसे लेकर आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

मुनीष राजौरिया सीएसपी मुरार

 

 

 

 

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned