इलाज कराने पहुंचा था मरीज, कोई गर्दन काट कर चला गया

इलाज कराने पहुंचा था मरीज, कोई गर्दन काट कर चला गया

Gaurav Sen | Publish: Aug, 14 2019 08:19:08 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

मृतक सुरेश को अस्पताल में किसी महिला ने भर्ती कराया था

शिवपुरी. जिला अस्पताल में मंगलवार को दिनदहाड़े हुई हत्या की वारदात के बाद बुधवार को एक बार फिर पुलिस अस्पताल पहुंची और मरीजों से पूछताछ करने के साथ साथ उन्हें समझाइश भी दी। पुलिस ने घटना स्थल को सील्ड कर दिया है ताकि वहां कोई प्रवेश न कर सके।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार की दोपहर अस्पताल के मेडिकल वार्ड में भर्ती सुरेश पुत्र मनीराम शाक्य उम्र ६५ साल की अज्ञात आरोपी ने आईसोलेशन वार्ड में गला रेतकर हत्या कर दी थी। इस मामले की पुलिस बुधवार की सुबह एक बार फिर जिला अस्पताल पहुंची और मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीजों से पूछताछ की।

इस दौरान अस्पताल में जो भी व्यक्ति संदिग्ध नजर आया, पुलिस ने उनसे पूछताछ कर यह जानने का प्रयास किया, वह अस्पताल क्यों आए हैं, कई लोगों की पुष्टि भी की कि वह सही बोल रहे हैं या नहीं। इसके अलावा मरीजों को यह भी बताया गया कि अगर उन्हें अस्पताल में कोई संदिग्ध व्यक्ति नजर आता है तो उसकी जानकारी तत्काल यहां मौजूद गार्ड अथवा पुलिस चौकी को दें।

पुलिस कर रही सीसीटीवी रिकॉर्डिंग की पड़ताल : पुलिस ने घटना के तत्काल बाद अस्पताल प्रबंधन से वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग एक पेन ड्राइव में ले ली है। पुलिस ने प्रत्येक एंगल से इस इस सीसीटीवी रिकॉर्डिंग की पड़ताल कर रही है कि घटना से पहले और बाद में अस्पताल में कौन-कौन आया था और कौन कौन गया। पुलिस को उम्मीद है कि अस्पताल के सीसीटीवी कैमरों से इस हत्या की वारदात का खुलासा होने में काफी मदद मिलेगी। सीसीटीवी वीडियो मृतक के परिवार वालों को भी दिखाई जाएगी, ताकि मामले में क्लू मिल सके।

सीसीटीवी में दिख रही महिला कौन थी ?
सूत्र बताते हैं कि अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे में जो दिख रहा है उसके अनुसार मृतक सुरेश को अस्पताल में किसी महिला ने भर्ती कराया था, पहले यह माना जा रहा था कि जिस महिला ने उसे भर्ती कराया है वह मृतक की पत्नी होगी परंतु आगे की पड़ताल में यह पता चला है कि मृतक की पत्नी तो काफी पहले उसे छोड़ कर जा चुकी है, ऐसे में वह महिला जिसने सुरेश को अस्पताल में भर्ती कराया था वह कौन थी? पुलिस इस बात की भी पड़ताल कर रही है। मृतक के बेटे धर्मेन्द्र ने बताया कि 15 दिन पहले उनका चाचा प्रकाश से झगड़ा हा गया था, इसके बाद वह दोनों कमलागंज में रह रहे थे। बकौल धर्मेन्द्र उसे तो पिता के बीमार होने की जानकारी ही नहीं थी, क्योंकि वह तीन चार दिन से पुरानी शिवपुरी में एक मकान पर मजदूरी कर रहा है और रात को वहीं सो जाता था।

murder of patient in shivpuri civil hospital

पुलिस ने घटना स्थल को सील्ड कर दिया है और उसकी चाबी पुलिस के पास ही है, इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग हमसे मांगी गई थी, हमने वह उपलब्ध करा दी है। इसके अलावा हमसे कोई पूछताछ नहीं की गई।
डॉ राजकुमार ऋषिश्वर, आरएमओ, जिला अस्पताल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned