ग्वालियर का मस्ल मेनिया, देश में जीत चुका है कई पुरस्कार

अभी तक बॉडी बिल्डिंग का क्रेज विदेशों मेंं और बड़े शहरों में ही देखने का मिलता था, पर अब इसका असर हमारे यहां भी देखा जा रहा है। 16 साल पहले शौकिया तौर पर बॉडी बिल्डिंग शुरू करने वाले रफीक खान के लिए आज ये जुनून बन चुका है।

ग्वालियर. अभी तक बॉडी बिल्डिंग का क्रेज विदेशों मेंं और बड़े शहरों में ही देखने का मिलता था, पर अब इसका असर हमारे यहां भी देखा जा रहा है। 16 साल पहले शौकिया तौर पर बॉडी बिल्डिंग शुरू करने वाले रफीक खान के लिए आज ये जुनून बन चुका है। आपागंज निवासी रफीक खान ने बताया कि 2004 में गोरखी जिम पर एक्सरसाइज करना शुरू की थी उसके बाद जिम ज्वॉइन की। हर रोज दो घंटे तक कसरत को देने के बाद ग्वालियर, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, नीमच, छिंदवाड़ा, दिल्ली आदि जगहों पर कई मैडल मैडल जीते हैं। पेशे से फर्नीचर का काम करने वाले रफीक बॉडी बिल्डिंग के लिए खानपान पर भी विशेष ध्यान देते हैं।

ये हैं उपलब्धियां
- 2004 में मिस्टर ग्वालियर ओवरऑल 55 किलोग्राम
- 2005 में मिस्टर ग्वालियर ओवरऑल 55 किलोग्राम
- 2008 में एमपी 1 गोल्ड 55 किलोग्राम
- 2012 में एमपी 3 गोल्ड टाइम 3 55 किलोग्राम
- 2016 में एमपी 3 गोल्ड 55 किलोग्राम
- 2019 में मिस्टर इंडिया गोल्ड 60 किलोग्राम
- 2019 में मिस्टर एमपी 3 गोल्ड 3 टाइम

ये हैं उपलब्धियां
- 2004 में मिस्टर ग्वालियर ओवरऑल 55 किलोग्राम
- 2005 में मिस्टर ग्वालियर ओवरऑल 55 किलोग्राम
- 2008 में एमपी 1 गोल्ड 55 किलोग्राम
- 2012 में एमपी 3 गोल्ड टाइम 3 55 किलोग्राम
- 2016 में एमपी 3 गोल्ड 55 किलोग्राम
- 2019 में मिस्टर इंडिया गोल्ड 60 किलोग्राम
- 2019 में मिस्टर एमपी 3 गोल्ड 3 टाइम

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned