न आवाज का नमूना दिया और न ही इसकी वजह बताई

पांच लाख की रिश्वत लेते पकड़े गए नगर निगम के तत्कालीन सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा अदालत के आदेश पर भी आवाज का नमूना देने आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो...

ग्वालियर. पांच लाख की रिश्वत लेते पकड़े गए नगर निगम के तत्कालीन सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा अदालत के आदेश पर भी आवाज का नमूना देने आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) के दफ्तार नहीं पहुंचे थे। ईओडब्ल्यू के अधिकारी मान रहे थे वर्मा को आवाज टेस्ट देने के लिए विभाग ने नोटिस थमाया था तो अनुपस्थित होने की वर्मा वजह मुहैया कराएंगे, लेकिन 24 धंटे बाद भी ईओडब्ल्यू के पास वर्मा का कोई जवाब नहीं पहुंचा।
बता दें कि बिल्डर से रिश्वत की डिमांड की बातचीत की रिकॉर्डिंग ईओडब्ल्यू के पास है। आवाज का सैंपल मुहैया कराने पर मिलान होगा। ईओडब्ल्यू अधिकारियों का मानना है कि वह फंस सकता है, इसलिए अदालत के आदेश को भी अनदेखा कर दिया। जबकि सोमवार को ईओडब्ल्यू ऑफिस में जांच टीम उसके इंतजार में रही। शाम तक वर्मा ईओडब्ल्यू के ऑफिस नहीं पहुंचा तो यह माना गया कि वर्मा को विभाग ने नोटिस देकर बुलाया था तो वह नहीं आने का लिखित कारण बताएगा।


यहां भी अनदेखी
ईओडब्ल्यू, लोकायुक्त और विश्वविद्यालय पुलिस को वर्मा से ताल्लुक रखने वाली तमाम जानकारियां नगर निगम मुख्यालय से हासिल करना है, इसके लिए यह जांच एजेंसियां लगातार निगम मुख्यालय को खत और नोटिस भेज रही हैं, लेकिन मांगी जानकारी नहीं मिल रही है।


इनका कहना है
निगम के तत्कालीन सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा ने आवाज का सैंपल टेस्ट क्यों नहीं दिया। इसकी वजह स्पष्ट नहीं की है। वर्मा सोमवार को वॉइस टेस्ट के लिए आना था, लेकिन वह नहीं आया, 24 घंटे बाद भी नहीं आने का कारण तक नहीं बताया।
अमित सिंह एसपी ईओडब्ल्यू ग्वालियर

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned