ग्वालियर स्टेशन पर "होटल रूम", पढ़ेें खबर समझे क्या है माजरा

new renovated room built at gwalior railway station: आइआरसीटीसी ने रिटायरिंग रूम को रेनोवेशन करने और इसे संचालित करने का काम पूना की कंपनी एम डिन्सो एंड रंजीत होटल प्राइवेट लिमिटेड को दिया। इस कंपनी ने सभी रूमों में तोडफ़ोड़ करने के बाद इसे संवारने का काम शुरू कर दिया है। इसमें कई कमरों में तो आकर्षक डिजाइन से खिडक़ी और दरवाजों के साथ अन्य काम भी शुरू कर दिया गया है।

By: Gaurav Sen

Published: 13 Sep 2019, 12:23 PM IST

ग्वालियर. रेलवे स्टेशन का रिटायरिंग रूम जल्द ही यात्रियों के लिए नए रूप में दिखाई देगा। रिटायरिंग रूम को चार महीने पहले ही आईआरसीटीसी ने अपने हैंडओवर लिया है। इसके बाद से इसे संवारने का काम काज शुरू कर दिया गया है। इन दिनों रिटायरिंग रूम के सभी कमरों को खाली कराकर खिडक़ी दरवाजों के साथ हर रूम को नया रूप दिया जा रहा है।

आइआरसीटीसी ने रिटायरिंग रूम को रेनोवेशन करने और इसे संचालित करने का काम पूना की कंपनी एम डिन्सो एंड रंजीत होटल प्राइवेट लिमिटेड को दिया। इस कंपनी ने सभी रूमों में तोडफ़ोड़ करने के बाद इसे संवारने का काम शुरू कर दिया है। इसमें कई कमरों में तो आकर्षक डिजाइन से खिडक़ी और दरवाजों के साथ अन्य काम भी शुरू कर दिया गया है।

तीन से चौबीस घंटे तक हो सकेगी बुकिंग
आइआरसीटीसी इसे शुरू करने के बाद कुछ बदलाव भी करने वाली है। अभी तक रेलवे यात्रियों को चौबीस घंटे की बुकिंग करता था, लेकिन आइआरसीटीसी यात्रियों की बुकिंग तीन से चौबीस घंटे की अलग- अलग स्थिति में करेगा। इसके साथ ही डोरमेंट्री भी शानदार बनाए जाएंगे। इसके हर एक यात्री को अलग से केबिन की व्यवस्था की भी जा रही है।

नाश्ता के साथ डिनर भी मिलेगा

रिटायरिंग रूम में आने वाले दिनों में कई सुविधाएं मिलने जा रही हैं। अभी तक यहां पर ठहरने वाले यात्रियों को चाय के लिए भी नीचे प्लेटफॉर्म पर जाना पड़ता था। लेकिन अब आइआरसीटीसी इस पूरी व्यवस्था को बदलने जा रही है। यहां पर यात्रियों के लिए चाय के साथ नाश्ता और डिनर और लंच तक ऑर्डर देने पर मिल सकेगा। इसके लिए यहां पर बाकायदा होटल जैसी व्यवस्था की जा रही है।

दो महीने बाद बुकिंग का होगा फैसला
रेलवे ने आरआरसीटीसी को रिटायरिंग रूम का देने के बाद से ही बुकिंग बंद कर दी है। अब इसका काम में तेजी आ गई है। आइआरसीटीसी के सूत्रों की मानें तो अभी रिटायरिंग रूम को पूरा करने में अभी दो महीने से ज्यादा का समय लग जाएगा। इसके बाद यात्रियों की बुकिंग शुरू होगी।

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned