scriptNow you will get 50-50 thousand rupees only after applying online | अब सिर्फ ऑनलाइन आवेदन करने पर ही मिलेंगे 50-50 हजार रुपए, ये है तरीका | Patrika News

अब सिर्फ ऑनलाइन आवेदन करने पर ही मिलेंगे 50-50 हजार रुपए, ये है तरीका


- 300 आए ऑफलाइन, अब सिर्फ ऑनलाइन जमा होंगे

ग्वालियर

Updated: December 08, 2021 11:30:32 am

ग्वालियर। कोविड-19 संक्रमण की वजह से मृत लोगों के परिजनों की सुविधा के लिए अब ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा दी गई है। इस विशेष वेब पोर्टल पर अनुग्रह राशि के लिए आवेदन किए जा सकेंगे। इसके साथ ही निराकरण और अनुग्रह राशि के वितरण की एंट्री भी की जाएगी। सोमवार को पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा शुरू की गई है। इसके साथ ही ऑफ लाइन आवेदन अब विशेष स्थिति में ही लिए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि अनुग्रह राशि के लिए अभी तक लगभग 320 आवेदन आ चुके हैं। इनमें से 28 आवेदकों को 50-50 हजार रुपए की राशि स्वीकृत भी हो चुकी है।

photo6158978906737192479.jpg
covid Compensation amount

इसके बाद से किसी भी हितग्राही का प्रकरण अभी तक निराकृत नहीं हुआ है। अनुग्रह राशि के आवेदन करने के लिए लोग तीन तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं। जिनमें से अधिकतर लोगों के पास इलाज से संबंधित दस्तावेज नहीं हैं और नए सिरे से दस्तावेज बनवाने की कोशिश करने वालों को अस्पतालों में रिकॉर्ड नहीं मिल रहा है। राहत कार्य प्रभारी प्रदीप सिंह तोमर ने बताया अनुग्रह राशि के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया अब ऑनलाइन की जा सकेगी।

ये हो रही हैं परेशानियां.....कैसे करें आवेदन

अधिकतर मरीजों के परिजन को अनुग्रह राशि के लिए आवेदन करने के लिए फार्म नहीं मिल रहे हैं। कम जानकार लोगों से ऑनलाइन फार्म निकालने के एवज में कियोस्क संचालक 50 रुपए तक की फीस ले रहे हैं। सरकारी कार्यालय में फार्म आसानी से मिल नहीं रहे हैं। अब सर्विसेस.एमपी.जीओवी. इन पर ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे।

कागज कहां से लाएं

मरीज को बचाने में असफल रहे लोगों ने इलाज से संबंधित दस्तावेज की जरूरत न होने पर संभालकर नहीं लिए। बहुत से लोग अस्पतालों से दस्तावेज लाए ही नहीं लाए। अब अनुग्रह राशि के लिए आवेदन करने के लिए दस्तावेज मिल नहीं रहे हैं। अस्पतालों में पुराना रिकॉर्ड न रखने की बात कहकर वापस किया जा रहा है।

दस्तावेज न हो तो क्या करें

दस्तावेज न होने पर आवेदन जमा करने के बाद जिला स्तरीय समिति द्वारा जांच कराई जाती है, लेकिन मरीजों के परिजन को इससे संबंधित जानकारी नहीं दी जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयUP Election 2022: आगरा कैंट सीट से चुनाव लड़ेंगी एक ट्रांसजेंडर, डोर-टू-डोर अभियान शुरूछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 19 मरीजों की मौत, जनवरी में ये आंकड़ा सबसे ज्यादा, इधर तेजी से बढ़ रही एक्टिव मरीजों की संख्यागणतंत्र दिवस को लेकर कितनी पुख्ता राजधानी में सुरक्षा? हॉटस्पॉट्स पर खास सिस्टम से होगी निगरानीUttar Pradesh Assembly Elections 2022: ...तो क्या सूबे की सुरक्षित सीटें तय करेंगी कौन होगा यूपी का शाहंशाहUttar Pradesh Assembly Elections 2022: शह और मात के खेल में डिजिटल घमासान, कौन कितने पानी में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.