95 में से केवल 20 ट्रेनों में चलता है स्क्वॉड, आए दिन हो रही हैं लूटपाट की घटनाएं, यात्रियों की सुरक्षा पर सवाल

95 में से केवल 20 ट्रेनों में चलता है स्क्वॉड, आए दिन हो रही हैं लूटपाट की घटनाएं, यात्रियों की सुरक्षा पर सवाल

Rahul Aditya Rai | Publish: Sep, 08 2018 06:53:03 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

रेलवे का दावा है कि झांसी, बीना, ललितपुर और आगरा से भी टे्रनों में स्क्वॉड चलता है, लेकिन हक ीकत यह है कि ट्रेनों में स्क्वॉड देखने को नहीं मिलता है

ग्वालियर। ग्वालियर से निकलने वाली 95 ट्रेनों में से केवल 20 ट्रेनों में ही सुरक्षा स्क्वॉड चलता है, ऐसे में अन्य ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे हैं, क्योंकि ट्रेनों में आए दिन लूट की घटनाएं हो रही हैं। दो दिन पहले ही भोपाल एक्सप्रेस में रात के अंधेरे में कुछ बदमाश वारदात के इरादे से ट्रेन में घुस गए थे, हालांकि ट्रेन में सुरक्षा जवान मौजूद रहने से बड़ी घटना होने से बच गई थी।

 

ग्वालियर से ट्रेनों में आरपीएफ के साथ जीआरपी के जवान चलते हैं। रेलवे का दावा है कि झांसी, बीना, ललितपुर और आगरा से भी टे्रनों में स्क्वॉड चलता है, लेकिन हक ीकत यह है कि ट्रेनों में स्क्वॉड देखने को नहीं मिलता है।

 

छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति में हो चुकी है लूट
छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में 30 अगस्त को रात में झांसी स्टेशन से निकलने के बाद ए टू कोच में लूटपाट की घटना हो चुकी है, इसमें कई यात्रियों को चोट आई थीं। इसके बाद कई यात्रियों को ग्वालियर स्टेशन पर पहुंचकर उपचार दिया गया था। इसके बावजूद रेलवे आरपीएफ ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया है।

 

शताब्दी, राजधानी जैसी ट्रेनों पर ध्यान
रेलवे का पूरा ध्यान ग्वालियर से निकलने वाली शताब्दी, राजधानी, हमसफर और दुरंतों जैसी ट्रेनों पर ही रहता है। इन ट्रेनों में अधिकांश वीआइपी और विदेशी यात्रियों की संख्या ज्यादा रहती है। इन यात्रियों को कोई परेशानी न आए रेलवे का ध्यान इस पर ही रहता है।

 

इन ट्रेनों में देखने को मिलेगा स्क्वॉड
ग्वालियर से आने-जाने वाली ट्रेनों में केरला एक्सप्रेस, भोपाल एक्सप्रेस, निजामुद्दीन जबलपुर एक्सप्रेस, श्रीधाम एक्सप्रेस, तमिलनाडु एक्सप्रेस, जीटी, कर्नाटका आदि ट्रेनों में सुरक्षा स्क्वॉड देखने को मिल जाता है।

 

प्रयास किए जा रहे हैं
झांसी मंडल की अधिकांश ट्रेनों में स्क्वॉड चलाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों की कमी के चलते यह संभव नहीं हो पा रहा है। फिर भी झांसी से लगभग 40 ट्रेनों में स्क्वॉड चल रहा है।
रमेश चंद्रा, कमांडेंट, आरपीएफ झांसी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned