समय पर चेत गए अफसर नहीं तो शहर में बिगड़ जातीं व्यवस्थाएं, जानिए क्या है मामला

समय पर चेत गए अफसर नहीं तो शहर में बिगड़ जातीं व्यवस्थाएं, जानिए क्या है मामला

Rahul Aditya Rai | Publish: Sep, 16 2018 07:48:41 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

नगर निगम से जुड़े कई कर्मचारी संगठनों ने 18 सितंबर के बाद से हड़ताल पर जाने की चेतावनी दे रखी थी, जिससे शहर में सफाई के साथ ही निगम की अन्य सेवाएं भी बाधित हो जातीं

ग्वालियर। नगर निगम के कर्मचारी संगठनों द्वारा 18सितंबर के बाद की जाने वाली हड़ताल अफसरों के साथ बैठक होने के बाद टल गई है। अफसरों ने कर्मचारियों की कई मांगों पर अमल करने और कुछ के लिए शासन को प्रस्ताव भेजने का आश्वासन दिया है।

 

नगर निगम से जुड़े कई कर्मचारी संगठनों ने 18 सितंबर के बाद से हड़ताल पर जाने की चेतावनी दे रखी थी, जिससे शहर में सफाई के साथ ही निगम की अन्य सेवाएं भी बाधित हो जातीं। ऐसे हालात में गणेश उत्सव और मोहर्रम के दौरान लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता था। इससे हरकत में आए अफसरों ने आनन-फानन में कर्मचारी संगठनों के साथ शनिवार को बाल भवन में बैठक कर 18 बिन्दुओं पर चर्चा की।

 

बैठक में अशोक खान ने कहा कि निगम में ठेकेदारों का पेमेंट पहले हो जाता है, जबकि कर्मचारियों का वेतन महीनों तक फाइलों में अटका रहता है, ऐसे अफसरों को हटाना चाहिए। इस पर अपर आयुक्त वित्त देवेंद्र पालिया ने कहा कि हमारे पास फाइलें आएंगी तभी तो उन पर एक्शन लेंगे।

 

आयुक्त विनोद शर्मा ने आश्वासन दिया कि वेतन समय पर निकले, इसके लिए संबंधित बाबुओं के साथ ही अफसरों की भी जिम्मेदारी तय की जाएगी। बैठक के दौरान स्वास्थ्य अधिकारी सतपाल सिंह चौहान, कर्मचारी नेता जगदीश अरोरा, भारतीय मजदूर संघ से विजय बरुआ, विष्णु शर्मा, जयराज चौहान आदि मौजूद रहे।

 

इन बिन्दुओं पर हुई चर्चा-
सीवर और सफाई से जुड़े कर्मचारियों को एक हजार रुपए अतिरिक्त भत्ता दिए जाने की मांग पर आयुक्त ने इसे एमआइसी में भेजने का आश्वासन दिया।
-चतुर्थ श्रेणी में प्रमोशन के लिए कमेटी गठित करने की बात अफसरों ने कही।-क्षेत्र के अनुरूप कर्मचारी बढ़ाने के मामले में शासन को प्र्रस्ताव भेजने की बात कही।
-विनियमित कर्मचारियों की मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को नोकरी देने के मामले में आयुक्त ने शासन से पत्राचार करने की बात कही।
-सफाई कर्मचारियों के अनुकंपा प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण कराने की बात कही।
-गैर हाजिर चल रहे कई कर्मचारियों के मामले में आयुक्त ने परीक्षण कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।
-कर्मचारी संगठनों के साथ ही तय समय पर बैठक कराने कि मांग पर भी आयुक्त ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned