ओवरफ्लो नहर, डूबी धान की फसल

भितरवार के नहर में आया पानी

ग्वालियर. . डी-3 की 2 एल माइनर के ओवरफ्लो होने से रविवार को तीन गांवों में खड़ी धान की दो सौ बीघा फसल डूब गई है। इससे करीब 12 किसानों की धान की फसल को नुकसान हुआ है। जबकि, फसल पककर तैयार थी और कुछ दिन बाद काटी जानी थी। इधर, किसानों की शिकायत के बाद भी काफी समय बाद नहर से पानी को बंद किया गया।
हरसी बांध से गेहूं के पलेवा के लिए पानी छोड़ा जा रहा है रविवार को डी-3 की टू-एल माइनर रविवार को ओवरफ्लो हो गई, जिससे चरखा, बरौआ और नया गांव-चक में पानी भर गया और करीब 200 बीघा में खड़ी धान की फसल डूब गई। रविवार को दिनभर खेतों में पानी भरने से किसानों की कटने को तैयार धान की फसल बर्बाद हो गई है और लाखों रुपए का नुकसान हो गया। किसानों का कहना है कि, जल संसाधन विभाग की लापरवाही से उनकी फसल को नुकसान हुआ है। इससे हुई आर्थिक क्षति की भरपाई कर पाना मुश्किल हो जाएगा। जल संसाधन विभाग के एसडीओ अग्निवेश  सौंताखिरिया के किसानों ने ऊपरी क्षेत्र का पानी खोल दिया जिससे पानी ओवरफ्लो हो गया। सूचना मिलने पर पानी को बंद करा दिया गया है।
monu sahu
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned