अनदेखी के कारण संवरने से पहले ही बदहाल होने लगा पार्क

अनदेखी के कारण संवरने से पहले ही बदहाल होने लगा पार्क

ग्वालियर. कांच मिल क्षेत्र में स्थित पार्क दुर्दशा का शिकार हो रहा है। हालांकि पार्क को संवारने का काम भी किया जा रहा है, इसके लिए उद्यान विभाग द्वारा लाखों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, लेकिन पार्क की पुरानी संपत्ति को बचाने के लिए अभी तक कोई प्रयास नहीं किए गए हैं, जिसके कारण पार्क से झूले पूरी तरह से गायब हो चुके हैं, साथ ही कई पेड़ भी सूख चुके हैं, जिनकी देखभाल के लिए कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पार्क में बने फुटपाथ को भी उखाडक़र नए फुटपाथ का निर्माण कराया जा रहा है, जबकि पुराना फुटपाथ ठीक था, लेकिन बजट को ठिखाने लगाने के लिए पार्क का जीर्णोद्धार दर्शाया जा रहा है।


कांच मिल क्षेत्र में वर्षों पुराना पार्क है, जहां सुबह और शाम को आसपास के लोग घूमने और सेहत बनाने के लिए पहुंचते हैं, लेकिन पार्क में अव्यवस्थाओं के कारण लोगों को परेशानी होती है। बच्चों को खेलने के लिए लगाए गए झूले पूरी तरह से गायब हो चुके हैं, साथ ही लोगों की सेहत बनाने वाला सामान भी पार्क में मौजूद नहीं है। इसके अलावा हरियाली के लिए लगाए गए पौधे सूखने के कारण लोगों को अच्छा वातावरण नहीं मिल पा रहा है। इधर, नगर निगम प्रशासन द्वारा शहर के सभी पार्कों का जीर्णोद्धार कराए जाने की बात कही जा रही है, इसके लिए राशि भी मंजूर करा दी गई है। कुछ पार्कों का जीर्णोद्धार कराया जा चुका है, लेकिन यहां सुरक्षा के इंतजाम करने के लिए ध्यान नहीं दिया जा रहा है। सुरक्षा व्यवस्था के अभाव में पार्क बदहाली का शिकार हो रहे हैं। इन पार्कों में शाम होते ही असामाजिक तत्वों का जमघट लगने लगता है, जो पार्क में गंदगी तो फैलाते ही हैं, साथ ही पार्क की संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाते हैं। कांच मिल स्थित पार्क में भी यही आलम देखने को मिल रहा है। जहां पार्क धीरे-धीरे अपना अस्तित्व खोता जा रहा है। खास बात यह है कि नगर निगम प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा भी इन पार्कों की नियमित मॉनीटरिंग नहीं की जाती है, जिसके कारण पार्कों पर खर्च होने वाली राशि व्यर्थ साबित होते हुए दिख रही है। लोगों को भी पार्कों में अच्छा वातावरण नहीं मिल पा रहा है।

Parmanand Prajapati Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned