लापरवाह शिक्षकों की जांच करने पहुंचे अधिकारियों बनाया दबाव, कहा-ऊंची पहुंच रखते हैं

जांच अधिकारियों ने स्कूल में गंदगी, क्लासों में सफाई न होना, छात्र संख्या में गिरावट और स्टाफ द्वारा बोर्ड परीक्षा की तैयारी में लापरवाही, नौवीं से लेकर बारहवीं तक के छात्रों की पढ़ाई का स्तर निम्न पाया

By: Rahul rai

Published: 19 Jan 2019, 07:16 PM IST

ग्वालियर। शासकीय पटेल हायर सेकंडरी स्कूल में मौज करने वाले शिक्षकों की जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच शुरू करा दी है। जांच करने स्कूल गए अधिकारियों को प्राचार्य और प्राभारी प्राचार्य अवकाश पर मिले। लेक्चरार दीपक शर्मा को स्कूल की व्यवस्थाओं को देखने की जिम्मेदारी दी गई थी।

 

शुक्रवार को पत्रिका में मंत्रीजी बनाना चाहते हैं आदर्श स्कूल, धूप सेंक रहे मास्साब, छात्रों को लौटाया, शीर्षक से खबर प्रकाशित होने पर जिला शिक्षा अधिकारी ने मामले को संज्ञान में लिया है। जिला शिक्षा अधिकारी ममता चतुर्वेदी ने दो सदस्यीय जांच दल को पटेल हायर सेकंडरी स्कूल में भेजा।

 

जांच अधिकारियों ने स्कूल में गंदगी, क्लासों में सफाई न होना, छात्र संख्या में गिरावट और स्टाफ द्वारा बोर्ड परीक्षा की तैयारी में लापरवाही, नौवीं से लेकर बारहवीं तक के छात्रों की पढ़ाई का स्तर निम्न पाया। जांच दल ने बार-बारी से शिक्षकों का पक्ष जाना। शिक्षकों ने जांच अधिकारियों को अपने दबाव में लेने का प्रयास किया और बातचीत के दौरान ऊंची पहुंच का हवाला भी दिया।

 

शिक्षक करते हैं टाइम पास
इस स्कूल को प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर आदर्श स्कूल बनाना चाहते हैं, लेकिन यहां पदस्थ शिक्षक स्कूल में पढ़ाई का स्तर सुधारने का प्रयास नहीं कर रहे हैं। वे स्कूल में गपशप कर टाइम पास कर रहे हैं। स्कूल में पढऩे वाले छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

 

प्रयोगशाला में तीन साल से नहीं हुए प्रैक्टिकल
स्कूल की प्रयोगशाला में तीन साल से प्रैक्टिकल नहीं हुए। जांच दल ने भी प्रयोगशाला नहीं देखी। प्रयोगशाला के नाम पर एक रूम है, जिसमें कुछ पुराने उपकरण हैं। नए उपकरण खरीदने और छात्रों को बताने में शिक्षकों की कोई रुचि नहीं है।

 

सख्त कार्रवाई होगी
जांच के लिए दल भेजा था, जो एक दो दिन में रिपोर्ट देगा। इसके बाद उक्त शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। यह रिपोर्ट वरिष्ठ अफसरों को भी दी जाएगी।
ममता चतुर्वेदी, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned