अस्पतालों में मरीजों, अटेंडरों को बांट रहे पोष्टिक आहार

कमलाराजा चिकित्सालय और कैंसर हॉस्पिटल में कई मरीजों और उनके अटेंडरों को खाने के लिए परेशान होते देखते थे, तो लगता था किसी भी तरह जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाया जाए।

ग्वालियर. कमलाराजा चिकित्सालय और कैंसर हॉस्पिटल में कई मरीजों और उनके अटेंडरों को खाने के लिए परेशान होते देखते थे, तो लगता था किसी भी तरह जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाया जाए। क्योंकि अस्पताल में आने वाले बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं, जिनके पास खाने के लिए भी पैसे नहीं होते हैं। यही सोचकर मारुति नंदन सेवा समिति के विक्की जैन और उनके 15 दोस्तों ने आपस में पैसे इक_े किए और तय किया कि जरूरतमंद मरीजों के लिए पोष्टिक आहार वितरण करना शुरू करेंगे।

मारुति नंदन सेवा समिति के सदस्यों ने बताया कि पहले प्रत्येक रविवार को कमलाराजा अस्पताल में भोजन वितरण शुरू किया, फिर कैंसर हॉस्पिटल में शुरू किया था। अब समिति में संतोष शाक्य, प्रदीप गुप्ता, सचिन गोयल, उत्कर्ष गोयल, प्रदीप अग्रवाल, मनोज शर्मा, गिर्राज अग्रवाल, अमित अग्रवाल जैसे युवाओं सहित 70 सहयोगी हैं, जिनके आर्थिक सहयोग से हर रविवार को दोनों अस्पतालों में भोजन पहुंच रहा है।

एक साल से चल रहा वितरण

स्वयंसेवकों ने बताया कि मरीजों को भोजन वितरण करने के लिए पूरी टीम पहुंचती है। कभी-कभी ऐसा भी होता है कि किसी मरीज के पास इलाज के लिए भी पैसे नहीं होते हैं तो हमसे जितना आर्थिक सहयोग बनता है करते हैं, ताकि मरीज हताश न हों। एक वर्ष से भोजन वितरण का काम अनवरत जारी है।

सफाई करने के बाद ही निकलते हैं

युवाओं की टोली रविवार को भोजन वितरण के लिए सुबह 11 बजे के आसपास अस्पताल पहुंचती हैं। प्रत्येक टोली में 8 सदस्य होते हैं। पहली टोली कमलाराजा अस्पताल में और दूसरी टोली कैंसर हॉस्पिटल में पहुंचकर भोजन वितरण करती है। वितरण के बाद सभी सदस्य आसपास फैलने वाले दौने आदि कचरे को साफ करने के बाद ही रवाना होते हैं।

Harish kushwah
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned