पानी की किल्लत ने इस गांव के लोगों को वो काम करने पर मजबूर कर दिया जो आप सोच भी नहीं सकते

shyamendra parihar

Publish: Sep, 16 2017 01:59:43 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
पानी की किल्लत ने इस गांव के लोगों को वो काम करने पर मजबूर कर दिया जो आप सोच भी नहीं सकते

पूरे अंचल में इस बार बारिश नहीं हुई। जो पुराने पोखर, हैंडपंप थे सो गर्मी ने वो भी सुखा दिए। गांव के कई परिवार पलायन कर चुके हैं ।

ग्वालियर/श्योपुर। पूरे अंचल में इस बार बारिश नहीं हुई। जो पुराने पोखर, हैंडपंप थे सो गर्मी ने वो भी सुखा दिए। गांव के कई परिवार पलायन कर चुके हैं और जो रह गए हैं वो बूंद बंूद पानी के लिए वो करने को मजबूर हैं जो आप सोच भी नहीं सकते।

 

MUST READ :   यहां बन रहा है सिस्टम, इन दिनों नहीं हुई बारिश नहीं तो फिर नहीं कोई उम्मीद,मौसम वैज्ञानिकों की ये भविष्यवाणी नींद उड़ा देगी

 

श्योपुर के आदिवासी विकासखंड कराहल के ग्राम धावा में पेजयल संकट के चलते लोग पलायन को मजबूर हैं और जो गांव में रह रहे हैं, वो बरसाती नदी-नालों का पानी पी रहे हैं। हालांकि इस संबंध में ग्रामीणों ने कई बार जनपद से लेकर जिला प्रशासन तक गुहार लगाई, लेकिन समस्या का कोई निराकरण नहीं हुआ। यही कारण है कि धावा के वाशिंदे जलसंकट से जूझ रहे हैं।

ग्राम पंचायत आवदा के ग्राम धावा 70 आदिवासी परिवारों की बस्ती है। लेकिन पिछले काफी समय से यहां पेयजल संकट बना हुआ है, बावजूद इसके देखने वाला कोई नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि पूरी गर्मी के सीजन में पीडीएस के तहत मिलने वाले केरोसिन को ग्रामीणों ने जनरेटर में डालकर पानी की व्यवस्था की, लेकिन अब केरोसिन, डीजल नहीं होने से जनरेटर भी नहीं चल रहा, लिहाजा बोर बंद पड़ी है।

 

MUST READ :  स्कूल में पढ़ते हैं 124 बच्चे और टीचर कोई भी नहीं, इस स्कूल के हाल सुनकर आप भी चौंक जाएंगे

 

वहीं वाटर लेवल गिर जाने के कारण हैंडपंप भी बंद पड़े हैं। यही वजह है कि यहां के आदिवासी परिवार दो किलोमीटर दूर बरसाती नालों से पानी लाकर पी रहे हैं। जिससे मौसमी बीमारियां भी फैल रही है।

जनसुनवाई में भी सुनवाई नहीं
धावा के ग्रामीणों का कहना है कि गर्मियों में पेयजल संकट के निजात के लिए आदिवासी महिलाओं ने जनसुनवाई में भी आवेदन दिया था, लेकिन अभी तक स्थाई हल नहीं हो सका है। तत्कालीन कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल ने ग्राम पंचायत को निर्देश जारी कर जनेटर में डीजल डाल कर पानी की समस्या से निजात दिलाई जाने के निर्देश दिए थे, लेकिन पंचायत ने कोई व्यवस्था नहीं की। जिसके चलते आज भी हालात जस के तस हैं।

people has to drink water from dirty canal, water crises in village, pani ki samasya,people has to drink water from dirty canal, water crises in village, pani ki samasya,

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned