ग्वालियर में सिविल एयरपोर्ट व फ्लाइट संख्या बढ़ाने का बन रहा प्लान

स्मार्ट सिटी की अवधारणा विषय पर चैंबर में चर्चा
स्मार्ट सिटी का काम होने से महाराज बाड़ा क्षेत्र में पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

By: prashant sharma

Published: 22 Sep 2019, 12:49 AM IST

ग्वालियर. स्मार्ट सिटी के रूप में एक सुंदर अवसर मिला है और इसके लिए सभी को सहयोग करना चाहिए। बाड़ा क्षेत्रमें इतने सब काम हो जाने के बाद शहर में पर्यटन को अवश्य ही बढ़ावा मिलेगा। अब ग्वालियर का विस्तार भी होना चाहिए। इसके लिए जरूरत है, वेस्टर्न बायपास के निर्माण कि क्योंकि इससे साडा क्षेत्र का निश्चित ही विकास होगा। यह बात अपर कलेक्टर किशोर कान्याल ने शनिवार को चैंबर ऑफ कॉमर्स में स्मार्ट सिटी की अवधारणा विषय पर चर्चा के दौरान कही।

उन्होंने कहा स्वर्ण रेखा के ऊपर रोड तथा शहर के चारों ओर रिंग रोड सहित सिविल एयरपोर्ट बनाए जाने की योजना पर प्रशासन द्वारा कार्य किया जा रहा है और यह प्रयास किया जा रहा है कि अभी ग्वालियर में प्रतिदिन चार फ्लाइट आती हैं उन्हें कम से कम आठ किया जाए। इससे शहर के विकास को नई गति मिलेगी। इस मौके पर स्मार्ट सिटी के सीईओ महीप तेजस्वी भी मौजूद थे।
स्मार्ट रोड पर नहीं दिखेगा कोई ओवहरहेड

सीईओ महीप तेजस्वी ने कहा कि महाराज बाड़ा को विकसित करने का पहले स्मार्ट सिटी द्वारा जो प्लान बनाया गया था, वह मास्टर प्लान पर आधारित था और उसके अनुसार सडक़ों को अतिक्रमण से मुक्त कर चौड़ा करने की योजना थी। परन्तु वह संभव नहीं था और उसमें काफी समय लगने की काफी संभावना थी। इसलिए बाद में यह निर्णय लिया गया कि हमें किसी की दुकान अथवा निर्माण नहीं तोडऩा है। सडक़ें चौड़ी दिखे, इसके लिए सभी प्रकार के खम्बों को हटाए जाने तथा केबिल्स को अण्डरग्राउण्ड किए जाने की योजना बनाई गई है और उस पर तेजी से काम चल रहा है। स्मार्ट रोड पर कोई ओवरहेड नहीं दिखेगा। सेन्ट्रल लायब्रेरी को डिजीटल किया जा रहा है। गजराराजा स्कूल की भूमि जो कि ट्रस्ट के आधिपत्य में है, उसके साथ मिलकर एक अच्छा हेरीटेज होटल बनाए जाने की योजना है। बाड़ा पर ग्रीन पार्क तथा उसके नीचे पार्किंग बनाएंगे। गोरखी स्कूल को पूरे प्रदेश में सबसे अच्छा मॉडल स्कूल बनाया जाएगा और इसमें अटलबिहारी वाजपेयी की स्मृति में अटल मेमोरियल बनाया जाएगा, जिसमें उनसे संबंधित साहित्य संजोया जाएगा। शासकीय प्रेस के स्थान पर औद्योगिक संग्रहालय बनाने की भी योजना है क्योंकि ग्वालियर का अतीत औद्योगिक वातावरण का रहा है, जिसे इसमें परिलक्षित किया जाएगा।
स्मार्ट सिटी ने नहीं बनवाए साइकिल ट्रेक और बस स्टॉप
इस अवसर पर एक प्रश्न के उत्तर में सीईओ महीप तेजस्वी ने कहा कि शहर में जो साइकिल ट्रेक एवं बस स्टॉप बनाए गए हैं, वह स्मार्ट सिटी की ओर से नहीं बनाए गए हैं। साथ ही नेहरू पार्क, कम्पू एवं लेडीज पार्क को विकसित करने के पीछे हमारी मंशा केवल इतनी सी थी कि हमें जो एरिया इस प्रोजेक्ट के तहत सौंपा गया है, उसमें नवीन बड़ा पार्क बनाने के लिए स्थान कहीं पर भी नहीं था, इसलिए हमने दोनों पार्कों को सुंदर किया है।
ये रहे मौजूद
कार्यक्रम में चैंबर अध्यक्ष विजय गोयल, मानसेवी सचिव डॉ.प्रवीण अग्रवाल, पूर्व उपाध्यक्ष सुरेश बंसल, महेश मुद्गल, उमेश उप्पल, आदयन्त अग्रवाल, गिरधारीलाल चावला, सुदर्शन झंवर, दुष्यंत साहनी, दीपक पमनानी आदि मौजूद थे।

prashant sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned