ग्वालियर में सक्रिय है चंदा गैंग, रात में आते हैं चंदा मांगने

ग्वालियर में सक्रिय है चंदा गैंग, रात में आते हैं चंदा मांगने

By: Gaurav Sen

Published: 02 Mar 2019, 12:10 PM IST

ग्वालियर. नया बाजार में एक घर में चंदा लेने पहुंचे युवक को घर मालिक ने शक होने पर पकड़ लिया। पूछताछ की तो कभी नागपुर का तो कभी गुना का रहने वाला बताया। उससे नियुक्ति पत्र और परिचय पत्र लिए तो उनमें गोलमाल नजर आया। शंका होने पर पुलिस बुलाकर उनके हवाले कर दिया। फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

नया बाजार अरिहंत अपार्टमेंट में रहने वाले विजय भार्गव के घर शुक्रवार सुबह एक युवक आया। उनसे बोला नागपुर की संस्था बाल अनाथालय का मेंबर है। अनाथालय के लिए चंदा लेने आया है। विजय ने पत्र मांगा तो घबरा गया। उन्होंने फटकार लगाते हुए कड़ाई से पूछा तो बोला गुना के विजयपुर का रहने वाला है। उसका नाम विनोद एम सपेरा है। उसके पास नियुक्ति पत्र और परिचय पत्र भी निकला। नियुक्ति पत्र 30 दिसंबर 2018 से 11 मार्च 2019 तक का था। जबकि परिचय पत्र सिर्फ एक महीने के लिए 20 जनवरी से 25 फरवरी तक का था। इस पर विजय को शंका हुई। पूछताछ की तो बताया यह कागजात एक हजार रुपए में बन जाते है। उन्होंने डायल 100 को फोन कर दिया। कुछ देर बाद पुलिस आ गई उसे कंपू थाने ले गई। पुलिस उससे पूछताछ कर उसके बारे में जानकारी जुटा रही है।

दहेज के लिए ससुरालवालों ने किया प्रताडि़त, चार पर एफआइआर दर्ज
ग्वालियर दहेज के लिए महिलाओं के साथ प्रताडऩा के मामले बढ़ते जा रहे हंै। बिरला नगर की एक महिला को उसके ससुरालवालों ने मायके से पैसे लाने के लिए दबाव डाला। मना करने पर उसे प्रताडि़त किया गया। परेशान होकर महिला ने ससुरालवालों पर एफआइआर कराई।

पुलिस के मुताबिक पीडि़ता दीप्ती राजावत का तिलक नगर में मायका है। उसकी ससुराल बिरला नगर में है। शादी के कुछ दिन सब ठीक चला। बाद में उसे दहेज के लिए तंग किया जाने लगा। ससुरालवाले उसे मायके से दहेज लाने के लिए कहते। उसने समझाया कि पिता के पास जो पैसे थे शादी में खर्च कर चुके है। अब उनके पास पैसे नहीं है। फिर भी ससुरालवालों ने दीप्ती को परेशान करना बंद नहीं किया। तंग आकर दीप्ती ने राजेश भदौरिया, हरेन्द्र, दीपा और राजू पर दहेज प्रताडऩा और जान से मारने की धमकी का मामला दर्ज कराया।

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned