पुलिस सिखाएगी ट्रैफिक कंट्रोल के गुर

हजीरा थाने पर दो दिन तक दिया जाएगा ट्रैफिक वार्डन को प्रशिक्षण

By: prashant sharma

Published: 20 Feb 2021, 08:36 PM IST

ग्वालियर. शहर के यातायात को सुधारने के लिए पुलिस के साथ पब्लिक को भी शामिल करने की शुरुआत हो गई है। अभी 50 लोगों के नाम ट्रैफिक वार्डन में दर्ज हैं। इनकी गिनती बढ़ाई जा रही है। इन वार्डन को सडक़ और चौराहों पर खड़ा करने से पहले यातायात को संभालने के गुर में भी माहिर किया जाएगा। इसकी दो दिन की ट्रेनिंग रविवार और सोमवार को हजीरा थाने पर दी जाएगी। पुलिस का प्लान शहर भर में करीब 300 यातायात वार्डन बनाना है।
राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हाल में शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए पब्लिक को आगे आने और खुद भी ट्रैफिक वार्डन बनकर काम करेंगे कहा था। इसलिए यातायात पुलिस ट्रैफिक वार्डन को तैयार करने में जुट गई है। उसके लिहाज से शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए कम से कम 300 वार्डन चाहिए। अभी उसके पास 50 लोग हैं। यातायात को सुधारने के लिए लोग आगे आ रहे हैं, लेकिन उन्हें सीधे सडक़ ओर चौराहों पर खड़ा नहीं किया जा सकता। इसलिए इच्छुक लोगों को यातायात संतुलन बनाने में माहिर किया जाएगा। ट्रैफिक एएसपी पंकज पांडेय ने बताया हजीरा थाने पर नए वार्डन को प्रशिक्षित किया जाएगा। यहां रविवार और सोमवार को ट्रेनिंग शैडयूल रखा जाएगा। जो लोग ट्रैफिक वार्डन बनकर काम करना चाहते हैं उन्हें यातायात के नियमों के अलावा चौराहों, सडक़ों पर जाम के हालात रोकने, लेफ्ट टर्न फ्री रखने के तरीके बताए जाएंगे।
पहचान के लिए जैकेट, सीटी
सडक़ पर यातायात सुधारने के लिए खड़े होने वाले लोग ट्रैफिक वार्डन है इसकी पहचान के लिए यातायात पुलिस उन्हें जैकेट ओर सीटी देगी। वार्डन के साथ यातायात पुलिस के लोग भी शामिल रहेंगे। प्लान का मकसद पब्लिक को यातायात को सुधारने और सडक़ों पर चलने का सलीका पब्लिक के जरिए ही समझाने का है।

prashant sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned