MP election 2018 : BJP राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने दिया ऐसा बयान,कांग्रेस में मची हलचल, SEE VIDEO

monu sahu | Publish: Sep, 10 2018 12:08:09 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 01:41:08 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

BJP राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने दिया ऐसा बयान,कांग्रेस में मची हलचल

ग्वालियर। देश में पेट्रोल-डीजल की रेट में लगातार हो रही कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में 10 सिंतबर को कांग्रेस ने भारत बंद का ऐलान किया है। पूरे देश के साथ ग्वालियर में भी बंद बुलाया है। सोमवार सुबह से ही कांग्रेसियों ने शहर के मुख्य चौराहों प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। उन्होंने शहर के हजीरा चौराहे पर जमकर प्रदर्शन किया और प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जमकर विरोध जताया। वही बंद को लेकर ग्वालियर पुलिस ने पुख्ता इंतजाम किए हुए हैं।

यह भी पढ़ें : BJP राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा सहित कई दिग्गज नेताओं को दिखाए काले झंडे,फिर सामने आया सबसे बड़ा बयान

शहर के हर चौराहों पर पुलिस के बाहन खड़े किए गए हैं। फायर बिग्रेड की गाडिय़ों को मौके पर लाया गया है। साथ ही सीसीटीवी से भी प्रदर्शन कर रहे लोगों पर नजर रखी जा रही है। लेकिन इस बंद से एक दिन पूर्व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने एक ऐसा बयान दे दिया।

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : अब ये होंगे अटल बिहारी वाजपेयी की करोड़ों रुपयों की संपत्ति के मालिक

जिससे कांग्रेस खेमे में हलचल मच गई है। जिसको लेकर कांग्रेस के कई नेता उसे गलत बता रहे है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि एट्रोसिटी एक्ट को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के पीछे कांग्रेस की दिया सलाई है। उन्होंने कहा कि हम चुरहट गए थे,वहां राहुल भैया के नाम से नारे लगे थे,मुख्यमंत्री पर हमला हुआ था। मैं यह नहीं कहता कि सभी जगह यह हो रहा है, लेकिन जिन चीजों से समाज में चिंगारी लगे,उनसे बचना जरूरी है।

यह भी पढ़ें : Breaking : एससी-एसटी एक्ट : भाजपा के चार दिग्गज सवर्ण नेताओं का इस्तीफा,हिली मोदी सरकार

वह प्रदर्शनकारियों से धिक्कार पत्र लेने के बाद मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा आंदोलन के पीछे जो दिया सलाई लेकर खड़े हैं,उनसे निवेदन है कि वे समाज को तोडऩे का काम न करें। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अपनी बात रखने का सभी को अधिकार है। हमनें लोगों की बात का सम्मान रखने के लिए समय भी दिया है।

यह भी पढ़ें : BREAKING NEWS: रेत माफिया ने डिप्टी रेंजर को कुचला, मौके पर हुई मौत बेखौफ रेत खनन वाले

हम पंथ, लिंग, भेदभाव सभी से दूर हैं। जो स्थितियां बन रही हैं,उनका आकलन भी लोग कर रही होंगे।एक्ट को लेकर उन्होंने मुझे धिक्कार पत्र दिया है, मैंने लिया है, यह उनका अधिकार है। मेरा कहना है कि सभी बातों को संवैधानिक तरीके से रखा जाना चाहिए अराजकता नहीं फैलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि क्या सही है और क्या गलत है, इसका निर्णय लेने के लिए सरकार है।

Ad Block is Banned