scriptProfessor caught in bribery did not come to give voice test | व्याइस टेस्ट देने नहीं आया घूसखोरी में पकड़ा प्रोफेसर | Patrika News

व्याइस टेस्ट देने नहीं आया घूसखोरी में पकड़ा प्रोफेसर

सोमवार को फिर थमाया नोटिस
थीसिस पूरी कराने के एवज में मांगी थी रिश्वत

ग्वालियर

Updated: January 11, 2022 01:20:30 am

ग्वालियर। पीएचडी कराने के बदले दिल्ली के छात्र अवनीश कुमार से १० हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया विजयाराजे गल्र्स कॉलेज के नृत्याचार भगवानदास माणिक लगातार ईओडब्ल्यू को छका रहा है। ईओडब्ल्यू को रिश्वतकांड में उसका व्याइस सैंपल लेना है। लेकिन माणिक बीपी और शुगर बढ़ी होने का हवाला देकर टेस्ट को टाल गया है। सोमवार को ईओडब्ल्यू ने उसे व्याइस टेस्ट के लिए दूसरा नोटिस थमाया है।
रिश्वत केस की इंवेस्टीगेशन में ईओडब्ल्यू को नृत्याचार भगवानदास माणिक के सामने आने का इंतजार है। क्योंकि माणिक की आवाज का मेल छात्र अवनीश से रिश्वत की मांग करने की आवाज से मेल कराना है।
test has been postponed citing increased BP and sugar
व्याइस टेस्ट देने नहीं आया घूसखोरी में पकड़ा प्रोफेसर
इसलिए माणिक को रिश्तवखोरी में पकड़े जाने के बाद टीम ने व्याइस टेस्ट देने का नोटिस दिया था। उसकी मियाद ५ जनवरी तक थी। लेकिन माणिक सामने नहीं आया। बल्कि पहले उसने पहले तो बीमार होने का हवाला दिया।
फिर ईओडब्लयू को जवाब थमा दिया कि ब्लड प्रेशर और शुगर काबू में नहीं आ रही है। ऐसी हालत में ईओडबल्यू के सामने आकर व्याइस टेस्ट नहीं दे सकता। इसलिए सोमवार को उसे फिर व्याइस टेस्ट के लिए आने का दूसरा नोटिस थमाया गया है।
बीमारी का हवाला देकर बचते रहे संदेही
रिश्वतखोरी में पकड़े गए संदेही व्याइस टेस्ट देने की बजाए बीमारी का हवाला ही देते रहे हैं। इस कड़ी में नगरनिगम के तत्कालीन सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा, जेडओ मनीष कन्नौजिया भी बीमारी का हवाला देकर व्याइस टेस्ट देने ईओडब्ल्यू के सामने नहीं आए।
पुख्ता सूबत होगा आवाज का मिलान
इंवेस्टिंग टीम का कहना है रिश्वतखोरी करने वाले को दबोचने से पहले उसकी रिश्वत की डिमांग की रिकार्डिंग की जाती है। उसे रंगे हाथ पकडऩे के बाद उसकी आवाज का मिलान रिकार्ड की गई आवाज से कराया जाता है। दोनों मेल खाती हैं तो रिश्वतखोरी करने वाले के खिलाफ पुख्ता सबूत होता है। यह पकड़े गए संदेही भी जानते हैं। इसलिए सामने आकर व्याइस टेस्ट देने से बचते हैं। संदेहियों को तीन नोटिस थमाए जाते हैं। फिर भी व्याइस टेस्ट नहीं देते तो उसकी रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जाती है।
इनका कहना है
रिश्वतखोरी में नृत्याचार को व्याइस टेस्ट के लिए नोटिस दिया गया था। लेकिन नृत्याचार ने सैंपल नहीं दिया। शुगर और ब्लडप्रेशर बढ़े होने और कई बीमारियों का हवाला दिया। अब फिर दूसरा नोटिस थमाया गया है।
नीतू सिंह इंवेस्टीगेशन अधिकारी ईओडब्ल्यू

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकाGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...यूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवक्या चुनावी रैलियों पर खत्म होंगी पाबंदियां, चुनाव आयोग की अहम बैठक आजदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकभिलाई में ईंट से सिर कुचलकर युवक की हत्या, रातभर ठंड में अकड़ा शव, पास में मिली शराब की बोतल और पर्चीथाने से सौ मीटर दूरी पर युवक की चाकू से गोदकर हत्या, इधर पत्नी का गला घोंट स्वयं फांसी पर झूल गया पतिसावधान! कोरोना वायरस फैला रहा टीबी, बढ़ती संख्या पर आइसीएमआर ने चेताया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.