थीम रोड के लिए नए सिरे से तैयार होगा प्रस्ताव, जो काम होने थे उनमें नहीं हो पाएंगे कई

अब थीम रोड के लिए पुन: नया प्रस्ताव और डिजाइन बनाई जाएगी, इसमें लागत 21 करोड़ से घटकर पांच-छह करोड़ रह जाएगी, इसके लिए पहल शुरू हो गई है

By: Rahul rai

Published: 29 Mar 2019, 09:03 AM IST

ग्वालियर। महल गेट से मांडरे की माता मंदिर तक एक किलोमीटर में बनी थीम रोड पर अब विद्युत लाइन अंडर ग्राउंड नहीं होगी, न ही स्मार्ट रोड बनाई जाएगी। अब थीम रोड के लिए पुन: नया प्रस्ताव और डिजाइन बनाई जाएगी, इसमें लागत 21 करोड़ से घटकर पांच-छह करोड़ रह जाएगी, इसके लिए पहल शुरू हो गई है। अब यहां प्लेस मेकिंग, ग्रीनरी, साइकिल ट्रैक बनेगा। यहां की सडक़ को ठीक करने का काम नगर निगम कराएगी। स्मार्ट सिटी के अधिकारी के अनुसार यह भी हो सकता है कि डक्टिंग का काम भी फिलहाल ड्रॉप हो जाए।

 

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर को सुंदर व व्यवस्थित बनाने के लिए 2250 करोड़ रुपए के प्रस्ताव तैयार हुए थे, इसमें थीम रोड के सौंदर्यीकरण के लिए 21 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भी था। पिछले वर्ष इस प्रोजेक्ट के तहत 11 करोड़ में अंडर ग्राउंड बिजली लाइन शिफ्टिंग, सीवर, गैस पाइप लाइन, पानी आदि की लाइन डक्टिंग करने, ग्रीनरी, प्लेस मेकिंग, साइकिल ट्रैक आदि के लिए प्रस्ताव बनाकर टेंडर निकाला गया था, काम के लिए एजेंसी भी तैयार हो गई थीं, इन्हें केवल कार्यादेश जारी करना था।

 

भ्रष्टाचार की शिकायतें मिलने पर नगरीय प्रशासन प्रमुख सचिव संजय दुबे द्वारा गत रोज किए गए निरीक्षण के दौरान इन कामों में अधिक राशि खर्च होने एवं पूर्व में थीम रोड के सौंदर्यीकरण पर दो करोड़ रुपए खर्च किए जाने का मामला सामने आया, जिससे उन्होंने इस पर रोक लगा दी और पुन: प्रस्ताव बनाने के लिए कहा, इससे कई अब कई काम नहीं हो सकेंगे।

 

अंडर ग्राउंड लाइन के लिए हो चुका सर्वे
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत जयविलास पैलेस गेट और अचलेश्वर चौराहे से इंदरगंज चौराहे तक अंडर ग्राउंड बिजली लाइन लगभग दो किलोमीटर तक डालने के लिए बीते वर्ष फरवरी-मार्च में सर्वे किया था। इस दौरान थीम रोड पर जयविलास पैलेस से जेएएच गेट एवं अचलेश्वर मार्ग पर आने वाले बिजली पोल, उपभोक्ताओं की संख्या, पेड़-पौधों को भी गिना गया। लाइन डालने के बाद सप्लाई के लिए अंडर ग्राउंड जंक्शन तैयार किया जाना था, इसके जरिए उपभोक्ताओं की सप्लाई केबल जोड़ी जाती

 

यह होना था
सडक़ के दोनों ओर अंडर ग्राउंड बिजली लाइन डालने दोनों ओर चेंबर बनाने थे। सडक़ पर खड़े विद्युत पोल हटने थे। बिजली कंपनी के अधिकारियों का सोचना था कि बारिश या तेज हवा होने पर फॉल्ट से उपभोक्ताओं को निजात मिल जाएगी।

 

दो करोड़ में यह कराया
पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता ने अपने कार्यकाल में थीम रोड की परिकल्पना लेकर प्रस्ताव तैयार कराया था, जिसमें दो करोड़ रुपए की लागत से थीम रोड के दोनों ओर फुटपाथ और घूमने आने वालों के लिए बैंच, सबसे ऊंचा झंडा लगवाने आदि का कार्य कराए, इससे यहां मॉर्निंग वॉक करने आने वाले लोगों की संख्या में काफी बढ़ी।

 

इनका कहना है
-वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर थीम रोड के सौंदर्यीकरण के लिए पुन: प्रस्ताव और डिजाइनिंग कराई जा रही है, इसमें कुछ काम हो जाएंगे, जिससे लागत भी काफी कम हो जाएगी।
महीप तेजस्वी, सीईओ स्मार्ट सिटी

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned