बजट को लेकर ये है पब्लिक की डिमांड,जानिए कैसा बजट चाहते हैं लोग

बजट को लेकर ये है पब्लिक की डिमांड,जानिए कैसा बजट चाहते हैं लोग
mp budget 2017

लोगों को इस बजट से कई आशाएं है। प्रदेश में वैट हो या फिर मूलभूत सुविधाएं , पब्लिक चाहती है कि आने वाला बजट सभी की आशाओं के अनुरूप हो।

ग्वालियर। मध्य प्रदेश सरकार का बजट सत्र 1 मार्च से शुरू होने वाला है। ऐसे में लोगों को इस बजट से कई आशाएं है। प्रदेश में वैट हो या फिर मूलभूत सुविधाएं , पब्लिक चाहती है कि आने वाला बजट सभी की आशाओं के अनुरूप हो।

आम आदमी के लिए हो बजट
शहर के युवा अनुज सिंह का कहना है कि प्रदेश सरकार को बजट आम आदमी को ध्यान में रखते हुए बनाना चाहिए। बजट में महंगाई और सुविधाओं दोनो का खास ख्याल रखना होगा। प्रदेश में वैट की दर अन्य राज्यों की तुलना में ज्यादा है। ऐसे में सरकार को वैट पर कटौती करना चाहिए।




वैट में मिले राहत
सराफा व्यापारी रविन्द्र सोनी का कहना है कि जैसा कि विदित है कि जीएसटी 2017 की जुलाई से लागू होगा। ऐसे में वाणिज्यिक कर विभाग में अनेक वर्षो से जिनकी बकाया राशि लंबित है, उनके लिए स्कीम लाई जाना चाहिए जिससे व्यापारी इसका लाभ ले पाएं।





शहर की विकास योजनाओं पर ध्यान दे सरकार
शहर के व्यापारी मनोज जैन, अनुपम शर्मा, विकास उपाध्याय आदि कहना है कि शहर में विकास की दर काफी धीमी है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट हो या अमृत सिटी सभी प्रोजेक्ट ग्राउंड पर प्रगतिशील नहीं दिख रहे हैं। ऐसे में सरकार को ग्वालियर के विकास को लेकर अलग से योजना बनाया जाना चाहिए।





प्रस्तावित उद्योगों पर हो अमल
शहर के उद्योगपति सुदीप शर्मा ने बताया कि ग्वालियर-चंबल अंचल से जो टैक्स वसूला जाता है, उसके अनुपात में अंचल की विकास दर काफी कम है। अंचल में छोटे-बड़े उद्योग समाप्त हो रहे हैं। छोटे उद्योग भी पलायन कर रहे हैं। ऐसे में जो उद्योग ईकाइयां अंचल में प्रस्तावित है उन पर अमल जल्द ही होना चाहिए। जिससे अंचल के उद्योगपतियों में विश्वास आए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned