अब दालों पर महंगाई का असर, सभी प्रकार की दालों पर बढ़ने लगे दाम

कारोबारियों के मुताबिक कोरोना काल और उपज के कमजोर होने के कारण भी दामों में बढ़ोतरी हुई है...।

By: Manish Gite

Published: 02 Sep 2020, 02:37 PM IST



ग्वालियर। दालों में ग्राहकी कम होने के बावजूद हफ्ते भर में इनके दाम 5 से 10 रुपए किलो बढ़ गए हैं। महंगाई का तड़का लगने से दालों की मांग भी कम हो गई है। दालों के दाम में आए उछाल से सभी परेशान हैं। दाल के थोक कारोबारियों के मुताबिक दलहनों की फसल कमजोर होने से दामों में उठाव बना हुआ है। कारोबारी ये भी कह रहे हैं कि दालों के दाम आगे और भी बढ़ सकते हैं।

 

दस दिन में ब्रांडेड देसी घी का टिन हो गया 1000 रुपए महंगा

ब्रांडेड देसी घी कंपनियों की मनमानी के चलते देशी घी के दाम भी एकदम से बढ़ गए हैं। ब्रांडेड एगमार्क कंपनियों के देशी घी के 15 किलो का टिम पिछले 10 दिनों में एक हजार रुपए तक महंगा हो गया है। थोक कारोबारियों के मुताबिक इन दिनों देसी घी की मांग न के बराबर होने के बावजूद कंपनियां मनमाे ढंग से दामों को बढ़ाए जा रही हैं। इसके चलते दूध पाउडर पर भी 25 से 30 रुपए प्रति किलो का उछाल आ गया है।

 

घी के दामों को लेकर व्यापारियों में घबराहट

देसी घी के थोक कारोबारी ने बताया कि पिछले 10 दिनों में कंपनियों ने देसी घी के टिन के दामों में 1000 रुपए की बढ़ोत्तरी कर दी है। इन दिनों बिक्री बिल्कुल भी नहीं है। उन्होंने बताया कि देसी घी के दामों को लेकर कारोबारियों में घबराहट है। कोरोनाकाल में व्यापारियों ने महंगे दामों में घी लेकर रखा और शादियां नहीं होने के कारण उसे सस्ते में बेचना पड़ा। अब उत्पादन का समय आने वाला है और दीपावली दो माह दूर है, ऐसे में आने वाले दिनों में व्यापारियों को फिर से घाटा उठाना पड़ सकता है।

यह हैं दाम

  • मूंग छिलका 80 से बढ़कर 85 हो गई।
  • चना दाल 90 रुपए से बढ़कर 100 रुपए हो गई है।
  • तुअर दाल 90 रुपए से बढ़कर 100 रुपए पहुंच गई है।
  • धुली उड़द 95 से बढ़कर 105 हो गई है।
  • साबुत उड़द 105 से 115 रुपए हो गई।
  • खड़ी मसूर 75 रुपए से बढ़कर 80 हो गई है।
  • मसूर धुली 74 रुपए से 85 रुपए हो गई है।
    (सभी दालों के फुटकर दाम प्रति किलो में)

क्या कहते हैं व्यापारी

खेरीज किराना व्यवसायी संघ के दिलीप खंडेलवाल कहते हैं कि दालों की बिक्री एकदम से गिरी है, किन्तु दाम बढ़ गए हैं। ऐसे में जो ग्राहक दाल खरीद रहा है वह भी इनसे दूर हो जाएगा। दालों की तेजी दीपावली तक बनी रह सकती है।

वहीं दालों के थोक कारोबारी विशाल गोयल कहते हैं कि हफ्ते भर में ही दालें 5 से 10 रुपए किलो तक महंगी हो गई हैं। आगे 5 रुपए किलो तक दाम और 5 रुपए किलो तक और बढ़ सकते हैं। फसलें कमजोर होने से दाम बढ़ रहे हैं, जबकि बिक्री न के बराबर है।

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned