क्यूसीआई टीम ने किया डाक्यूमेंटेशन

नगर निगम द्वारा शहर को ओडीएफ प्लस प्लस के लिए किए आवेदन की हकीकत जांचने दिल्ली से आई टीम ने रविवार को शहर के कुछ क्षेत्रों का भ्रमण कर शौचालय की स्थिति का जायजा लिया। इसके बाद टीम ने डाक्यूमेंटेशन किया और दल दिल्ली के लिए रवाना हो गया।

ओडीएफ प्लस प्लस के दावों की हकीकत देखने के लिए दिल्ली से आए केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय की टीम ने कुम्हरपुरा, गोविंदपुरी, किला, सूबे की गोठ का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने शौचालय की स्थिति देखीं और उसके बाद डाक्यूमेंटेशन किया। टीम ने निगम से ओडीएफ से संबंधित सभी दस्तावेज स्कैन कर ऑनलाइन अपलोड कर दिए।

दो दिन बाद आएगा रिजल्ट
ओडीएफ के लिए क्यूसीआई टीम द्वारा जो भी सर्वे किया गया है उसकी रिपोर्ट २ दिन बाद आएगी। इसके बाद ही तय होगा कि शहर को ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा मिलेगा या नहीं।

फीडबैक बढ़ा सकती है परेशानी
ओडीएफ प्लस प्लस का दर्जा मिलने के लिए सर्वे करने आई टीम द्वारा शहर में शौचालय की स्थिति का जायजा लिया गया। इसके अलावा यह देखा गया कि कहीं खुले में शौच तो नहीं हो रहा है। इसमें कुछ ऐसे भी क्षेत्र थे जहां पर शौचालयों की स्थिति बहुत खराब है। इसके साथ ही सबसे अधिक परेशानी फीडबैक से हो सकती है। दरअसल टीम ने कुछ क्षेत्रों में लोगों से भी शौचालय की स्थिति के बारे में बातचीत की है। ऐसे में लोगों ने अच्छी राय नहीं दी है। जिसका असर रिजल्ट पर पड़ सकता है।

Vikash Tripathi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned