मसाला फैक्ट्री में छापेमारी, फैक्ट्री संचालक ताला लगाकर हुआ फरार, ताला तोड़कर मारा छापा

भुसी और रंग मिलाकर बना रहे थे मसाला, जुर्माना वसूला तो वहीं अस्सी लीटर घी भी कर दिया सील

ग्वालियर। मिलावट खोरों पर इन दिनों सैपलिंग की कार्रवाई हर दिन की जा रही है। इसके बावजूद भी लोग मिलावट करने से नहीं चूक रहे है। शनिवार को दानाओली में बड़ी कार्रवाई करते हुए अधिकारियों ने दो दुकानों को सील किया। दानाओली में बृजेश गुप्ता की ग्वालियर गृह उद्योग मसाला पिसाई केन्द्र है। टीम दोपहर में पहुंची तो यहां पर दुकान के अंदर मसाले तैयार किए जा रहे थे। मसाले में दुकान के अंदर बैठै लोग भुसी और दूसरे रंगों से मिर्च पाउडर तैयार किया जा रहा था।

इस जिला प्रशासन के अधिकारियों ने दुकान मालिक बृजेश गृप्ता को बुलाने की बात कहीं तो उनके यहां बच्चे ने बताया कि वह बाहर है। काफी इंतजार करने के बाद जब वह नहीं आए तो दुकान को सील किया गया। वहीं दानाओली में इस दुकान के सामने संजय गुप्ता बाबर्ची ब्रंाड के मसाले तैयार करते हुए पकड़ा है। यहां इन मसालों की पैकिंग की जाती है। इस दोनों ही दुकानें गली में थी और वहां काफी गंदगी में यह मसाले बनाए जा रहे थे। इन दोनों ही दुकानों को सील किया गया। इस कार्रवाई में एसडीएम अनिल बनवारिया, तहसीलदार आरएन खरे के साथ फूड विभाग की टीम शामिल थी।

वहीं शाम को दौलतगंज स्थित विजय रंग और विजय पेंट की दुकान पर भी कार्रवाई की गई। जहां पर अधिकारियों को फूड विभाग का लाइसेंस नहीं मिला है। इस कार्रवाई के चलते शहर में कई दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बंद करना ही उचित समझा। इसके चलते दौलतगंज में भी कई दुकानें शाम होते ही बंद हो गई।

झूठ बोलते रहे संचालक नहीं आए
दानाओली में कार्रवाई के दौरान अधिकारियों ने जब दोनों ही संचालकों को बुलाने की बात कहीं तो दोनों ने ही मोबाइल पर बताया कि डबरा और कैलारस में है। ग्वालियर आने में समय लगेगा। इस पर एसडीएम ने कहा कि आप तो कैलारस थाने के सामने से सेल्फी खीचकर हमको डाल दो। हम समझ जाएंगे कि आप बाहर हो, लेकिन दोनों ने काफी देर तक कोई भी अपनी फोटों तक नहीं भेजी। इसके बाद दुकानों को सील किया गया।

raid on  <a href=Masala Factory in gwalior" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/08/03/31e74eb5-a546-40c3-b502-70245964b18b_4927975-m.jpg">

दुर्गा डेयरी सील
मुरार एमएस चौराहा पर स्थित दुर्गा डेयरी पर शाम 5 बजे के आसपास कार्रवाई की गई। जिसमें इस दुकान से 2014 का जुर्माना भी 50 हजार रुपए वसूल किया गया। इसी दुकान में दुकान मालिक 80 किलो घी भी तैयार कर रह था। इस घी को भी इसी दुकान में सील कर दिया गया है। सील दुकान को एक दो दिन में खोलकर घी के सैंपल लिए जाएंगे। यह दुकानदार पूर्व में टीम को देखकर भाग चुका है। इसको देखते हुए टीम पूरी प्लानिंग से गई थी। इस टीम में तहसीलदार नरेश गुप्ता व अन्य फूड विभाग के अधिकारी शामिल थे।

Gaurav Sen Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned