वृंदावन में राज चले बरसानेवारी को.....

- दो दिवसीय राधा प्राकट्य उत्सव प्रारंभ, आज राधा अष्टमी पर 56 कली का लहंगा पहनेंगे भगवान चक्रधर

By: Narendra Kuiya

Published: 14 Sep 2021, 09:01 AM IST

ग्वालियर. राधा अष्टमी पर्व मंगलवार 14 सितंबर को ज्येष्ठा नक्षत्र में मनाया जाएगा। सनातन धर्म मंदिर में दो दिवसीय श्री राधा प्राकट्य महोत्सव की शुरूआत सोमवार से हुई। पहले दिन शाम को हुई भजन संध्या में भजन गायक पं.सतीश कौशिक ने चक्रधर हॉल में एक से बढकऱ एक भजनों की प्रस्तुति दी। राधारानी के मंगलाचरण से भजनों की शुरूआत करते हुए उन्होंने वृंदावन में राज चले बरसानेवारी को, छोटी सी किशोरी मेरे अंगना में डोले रे...., वृषभानु के द्वार बधाई बाजे रे, हम धूम मचाने आ गए श्री राधे तेरे बरसाने में....,लाड़ली अद्भुत नजारा तेरे बरसाने में है, मेरी विनती यही है राधारानी कृपा बरसाए रखना... जैसे मनमोहक भजन गाकर श्रद्धालुओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। इस अवसर पर मुख्य पुजारी पं.रमाकांत शास्त्री ने भगवान चक्रधर का भव्य शंृगार किया। बधाई के रूप में टॉफियां लुटाई गईं। कार्यक्रम के दूसरे दिन 14 सितम्बर मंगलवार को सुबह 5 बजे राधारानी का प्राकट्योत्सव होगा, तत्पश्चात परंपरागत दधिकांदा उत्सव होगा। शाम 5 बजे राधा जी डोल में बैठकर शोभायात्रा में भक्तों को दर्शन देंगी। इस अवसर पर भगवान चक्रधर का राधा जी के रूप में परंपरानुसार प्रतीकात्मक 56 कली का लहंगा पहनाकर भव्य शंृगार किया जाएगा।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned