मेडिकल सेल में करेक्शन बंद होने से अटके सैकड़ों छात्रों के रिजल्ट-मार्कशीट

मेडिकल सेल में करेक्शन बंद होने से अटके सैकड़ों छात्रों के रिजल्ट-मार्कशीट

Rizwan Khan | Publish: Sep, 02 2018 07:09:08 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

जीवाजी यूनिवर्सिटी द्वारा छात्रों के रिजल्ट और मार्कशीट में करेक्शन के लिए नई व्यवस्था शुरू करने से पहले पुरानी व्यवस्था बंद करने से सिस्टम गड़बड़ा

ग्वालियर. जीवाजी यूनिवर्सिटी द्वारा छात्रों के रिजल्ट और मार्कशीट में करेक्शन के लिए नई व्यवस्था शुरू करने से पहले पुरानी व्यवस्था बंद करने से सिस्टम गड़बड़ा गया है। विगत 15 दिनों में सामान्य, मेडिकल और सेल्फ फाइनेंस के करीब 43 परीक्षाओं के 740 छात्रों ने अपने रिजल्ट और मार्कशीट के लिए आवेदन कर रखा है, लेकिन उनका काम नहीं हो पा रहा है। प्रतिदिन 10 से 15 आवेदन आने के कारण यह संख्या बढ़ रही है। करेक्शन सेल के शिक्षक भी परीक्षा और गोपनीय के अधिकारियों से इस समस्या के हल के लिए कह चुके हैं। लेकिन अधिकारियों का कहना है कि कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला के सख्त निर्देश हैं कि अब करेक्शन पुरानी व्यवस्था के तहत नहीं होंगे। नई व्यवस्था कब से शुरू होगी इसका कोई आता-पता नहीं है। समस्या का निराकरण न होने पर कई छात्रों ने सीएम हेल्पलाइन में भी अपनी शिकायत दर्ज करा दी है। जिससे टेंशन में आए कुलसचिव डॉ.आनंद मिश्रा ने शनिवार को अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को छात्रों के प्रकरण हल करने के निर्देश दिए। लेकिन व्यवस्था ठप्प होने से कर्मचारी भी छात्रों की समस्याएं हल नहीं कर पा रहे हैं।

 

बड़ी खबर : बारिश ने ग्वालियर चंबल संभाग में मचाई तबाई,कईं मकान गिरे,जिले में अलर्ट,देखें वीडियो

 

बंद की पुरानी व्यवस्था
जेयू कुलपति प्रो.शुक्ला ने परीक्षा चार्ट में गड़बडिय़ों के कारण पुरानी व्यवस्था बंद की। नई व्यवस्था में उन्होंने सबसे पहले शिक्षकों से हाथ से चार्ट बनाने, उसके बाद कम्प्यूटर से उसे डिजायन करवा प्रिंट निकालने के बाद सभी शिक्षकों के साइन के बाद चार्ट में जोडऩे के निर्देश दिए हैं। पहले कर्मचारी सीधे चार्ट में करेक्शन कर छात्र का रिजल्ट बनाकर मार्कशीट बनवा देते थे।

 

BREAKING : ST/SC संशोधन बिल के विरोध में अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे लोग,मंत्री के बंगले का घेराव,जिले में हाई अलर्ट,See video

 

करेक्शन सेल के शिक्षकों ने यह समस्या हमारे सामने रखी है। मंगलवार को कुलपति से चर्चा की जाएगी। करेक्शन समय पर हों, इसके लिए हम कोशिश कर रहे हैं।
अभयकांत मिश्रा, असिस्टेंट रजिस्ट्रार, जेयू

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned