सेफ सिटी: हर वार्ड में बनेगी 10 से 40 युवाओं की टीम, शहर में 600 वालंटियर बनाने का लक्ष्य

-कहीं भी महिलाओं के साथ घटना होने पर युवा वालंटियर करेंगे रिस्पांस

By: prashant sharma

Updated: 17 Feb 2021, 07:46 PM IST

ग्वालियर। शहर की महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकारी स्तर पर हो रहे प्रयासों के साथ-साथ युवक-युवतियों के ग्रुप बनाकर भी सहयेाग लिया जाएगा। सेफसिटी को लेकर तैयार हो रही इस प्लानिंग के जरिये प्रत्येक वार्ड में 10 से 40 युवाओं की वालंटियर टीमें बनाई जाएंगीं। इन टीमों को प्रशिक्षण देकर महिला प्रतिषेध एवं अत्याचार अधिनियम और कार्य स्थल पर लैंगिक उत्पीडऩ से संबंधित बेसिक जानकारी दी जाएगी ताकि युवाओं की टीमें दूसरों को भी समझा सकें और महिलाओं को भी उनके अधिकार बता सकें। युवाओं की यह प्रशिक्षित टीम शहर के हर वार्ड में महिलाओं के साथ घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचेगी और घटना करने वाले पर कार्रवाई के लिए प्रयास करेगी। इस टीम को महिला बाल विकास, प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों का सपोर्ट रहेगा।
इस तरह होगी टीमें तैयार
-सामाजिक कार्यों में रुचि रखने वाले युवक-युवतियों के वाट्सग्रुप बनाकर पूरे शहर से एक कोर ग्रुप बनाया जाएगा।
-युवाओं के इस ग्रुप को अपने-अपने क्षेत्र में सही सोच वाले युवाओं के ग्रुप बनाने का काम दिया जाएगा।
-शहर के 66 वार्डों में न्यूनतम 10-10 युवक-युवतियों के समूह बनाए जाएंगे।
-सभी युवाओं के ग्रुपों को मिलाकर 600 से अधिक युवाओं की संख्या हो जाएगी।
-इन सभी समूहों को वालंटियर बनने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।
-छोटे-छोटे समूहों में बंटे यह युवा शहर में युवतियों के साथ गलत व्यवहार होने पर मदद के लिए पहुंचेंगे।
इस तरह करेंगे मदद
-किसी युवती,छात्रा या महिला से छेड़छाड़ या गलत व्यवहार होने की सूचना मिलने पर संबंधित क्षेत्र के युवा मौके पर पहुंचेंगे।
-अगर पुलिस रिपोर्ट लिखने में आनाकानी कर रही होगी तो युवाओं का पूरा समूह इक_ा होकर प्रकरण दर्ज कराने का प्रयास करेगा।
-शहर में छेडख़ानी वाले हॉट स्पॉट, गल्र्स स्कूल-कॉलेज के आसपास छींटाकसी और फब्तियां कसने वाले लोगों को भी समझाइश देंगे।

prashant sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned