इंसान की आपसी लड़ाई में भगवान को तीन दिन से नहीं लगा भोग, देखें वीडियो

इंसान की आपसी लड़ाई में भगवान को तीन दिन से नहीं लगा भोग, देखें वीडियो

monu sahu | Updated: 14 Jul 2019, 06:35:23 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

  • सनातन धर्म मंदिर में भगवाान चक्रधर का भोग लगाने को लेकर विवाद
  • मंदिर के सदस्य भगवान के भोग की थाली लेकर पहुंचे,दो घंटे तक चला हंगामा

पवन दीक्षित/ग्वालियर। सनातन धर्म मंदिर में भगवान चक्रधर का पिछले तीन दिनों से भोग नहीं लग रहा था। इसी बात को लेकर मंदिर के कुछ सदस्य रविवार की दोपहर करीब तीन बजे भगवान को भोग लगाने पहुंचें। इन सदस्यों ने भगवान का भोग लगाने को लेकर मंदिर का ताला खोले जाने की बात कही,तभी मंदिर के अध्यक्ष सहित अन्य सदस्यों ने ताला न खोलने की बात कही। इस बात को लेकर कमेटी के पदाधिकारी व सदस्यों में विवाद गहरा गया। मंदिर कमेटी के सदस्यों ने मंदिर का ताला न खोले जाने और भगवान चक्रधर का भोग न लगने पर विरोध जताया और कहा कि दो दिन से भगवान का भोग नहीं लगा। अब मंदिर का ताला खोला जाए और भोग लगाने के लिए थाली लेकर आए हैं।

इसे भी पढ़ें : सोने के भाव में सबसे बड़ी गिरावट, धड़ल्ले से बिक रहा है सोना

इस बात पर मंदिर के पदाधिकारी व सदस्यों में जमकर विवाद हुआ। करीब पौने घंटे तक बहस हुई। इसी दौरान मंदिर के पदाधिकारियों ने अपने अन्य पदाकारियों को बुला लिया। इस पूरे विवाद मेंं मंदिर में चल रही गुटबाजी खुलकर सामने आ गई। मंदिर के दो गुट आमने-सामने हो गए। विवाद गहराने के बाद मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों ने तत्काल एक बैठक की। ये बैठक में मंदिर का नियमित भोग लगाए जाने पर आपस में बातचीत होती रही। बैठक में कुछ पदाधिकारियों ने इस बात पर विरोध दर्ज कराया कि आखिर नियमित भोग क्यों नहीं लगा रहा है।

इसे भी पढ़ें : आधार अपडेशन कराने से पहले जरूर पढ़ लें यह खबर, वरना आप भी हो सकते है परेशान

फोटो खींचने पर पत्रकारों से विवाद
यह विवाद की जानकारी लगते ही मीडिया मंदिर पहुंच गई। विवाद का फोटो खींचे जाने पर मंदिर के अध्यक्ष का पत्रकारों से विवाद हो गया। इस पर पत्रकार एकजुट हो गए। इसके बाद मंदिर कमेटी के अध्यक्ष ने माफी मांगी।

इसे भी पढ़ें : रात 2.30 बजे घर में घुसे बदमाश, बुजुर्ग दंपती को गन पॉइंट पर लूटा

 

Sanatan Dharam Mandir

शाम पांच बजे तक भोग की थाली लेकर बैठे रहे सदस्य
भोग विवाद को लेकर मंदिर पहुंचे सदस्य नारायण बृजवासी बताया कि उनके साथ मंदिर पर भोग लगाने के लिए दोपहर से शाम तक मनोज गोयल, ओमप्रकाश लला, नरेश सिंघल, अशोक गर्ग मोहन लाल एमएलए, मदन कमारा और हरिचरण लाल शर्मा मौजूद रहे। मंदिर में तीन दिन से भगवान का भोग नही लग रहा था। इस कारण से हम लोग मंदिर में भोग लगाने पहुंचे। देवशयनी एकादशी को भगवान दाल चावल का भोग लगाया गया जिसका विरोध किया गया था। वहीं भगवान का भोग तैयार करने वाली रसोइया अनीता शर्मा का कहना है कि मुझे तीन दिन से भोग बनाने से मना किया गया था इसलिए भोग तैयार नहीं किया।

इसे भी पढ़ें : चार दोस्तों ने युवती से दोस्ती कर की घिनौनी हरकत, बैंगलुरु से आने के बाद बताई सच्चाई


सनातन धर्म मंदिर मंडल अध्यक्ष कैलाश चंद्र मित्तल ने कहा भगवान का भोग रसोइया ने तैयार नहीं, लेकिन भोग भगवान का लगता रहा। जो लोग भोग लगाने आए है वह मंदिर खुलने पर भोग लगवा सकते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned