पुलिस पर रेत माफिया का हमला, टीआई घायल

6 रेत चोर पकडे दो तमंचे कारतूस मिले
24 घंटे में रेत माफियाओं ने अंचल में पुलिस पर किया दूसरी बार अटैक

By: Puneet Shriwastav

Published: 05 Feb 2021, 02:40 PM IST

ग्वालियर। रेत माफियाओं ने एक बार फिर दुसाहस दिखाया कर माफियाओं पर सरकार की कार्रवाई को खुलेआम चुनौती दी है। शुक्रवार को चंबल से चोरी की रेत लेकर आने वालों ने पुरानी छावनी पुलिस पर हमला कर दिया। अंचल में 24  घंटे में रेत माफियाओं की पुलिस पर अटैक की सिलसिलेवार दूसरी वारदात है।

पुरानी छावनी पुलिस ने रेत चोरों को जलालपुर रेलवे क्रासिंग के नीचे घेरा, उनका रास्ता रोकने के लिए सडक पर डंपर और ट््रैक्टर अडाए थे। पुलिस को एक्शन में देखकर रेत चोर खून खराबे पर उतारू हो गए। उनके गुर्गों ने घेरा डालकर बैठी पुलिस पर हमला कर दिया।

उन्हें दौडा दौडा कर पीटा, टीआई सुधीर सिंह कुशवाह पर भी अटैक कर दिया। उनके सिर में गहरी चोट आई और हाथ की उंगली कट गई। टीआई कुशवाह ने सडक किनारे नाले में कूदकर जान बचाई। रेत चोरों के हमले कापता चलने पर बाकी थानों का फोर्स जलालपुर पहुंचा तो रेत माफिया खेतों में ट््रैक्टर घुसाकर भाग गए। घेराबंदी में पुलिस ने रेत से भरी 5 टै््रक्टर ट््रॉली सहित ६ लोगों को पकडा है। उनसे दो कटटे और कारतूस भी बरामद किए हैं।
दतिया में भी हुआ हमला
रेत चोरों ने पिछले 2४ घंटे में पुलिस पर सिलेसिलेवार दूसरा हमला किया है। गुरूवार को रेत माफियाओं ने दतिया पुलिस पर अटैक किया था। शुक्रवार सुबह पुरानी छावनी उनके निशाने पर आई।

पुलिस पर हमले का पता चलने पर एसपी अमित सांघी भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि चंबल से चोरी की रेत मुरेना के रास्ते ला जा रही है।

निरावली चेकिंग प्वाइंट पर पुलिस का पहरा है तो रेत चोर गांव के रास्तों से घुसकर जलालपुर के रास्ते शहर में एंट््री कर रहे थे। उनके इस रास्ते के बारे में पुलिस को जानकारी मिली थी। इसलिए रेत चोरों को पकडने की कार्रवाई की गई।
रेत चोरों की पेट््रोलिंग पार्टी ने किया हमला
टीआई सुधीर सिंह कुशवाह ने बताया जलालपुर रेलवे क्रासिंग के नीचे रेत चोरों का रास्ता रोकने के लिए सडक पर डंपर और ट््रैक्टर आडे खडे कर सडक ब्लॉक की थी।

इससे रेत चोरो ंको आभास हुआ कि वह घिर गए हैं। पुलिस ने घेरे में 5  ट््रैक्टर ट््रॉलियों को ले लिया था। उनके पीछे भी रेत से भरे ट््रैक्टर ट््रॉली की कतार आ रही थी। उसी दौरान रेत चोरों के गुर्गे ने ट््रैक्टर दौडाकर उन पर चढाने की कोशिश की, जान बचाने के लिए वह नाले में कूदे वहां रखे लोहे के एंगल में पैर फंसने पर उलझ कर गिर पडे इससे सिर और हाथ में चोटें आई।
पुलिस पर दागी गोलियां
रेत चोरों ने पुलिस पर हावी होने के लिए दनादन फायर भी ठोंके, इससे पुलिस बैकफुट पर आ गई। जिस जगह पर पुलिस पर अटैक हुआ वहां खुला मैदान हे तो जान बचाने के लिए पुलिसकर्मी भी जहां जगह मिली उधर भागे। इसका फायदा उठाकर रेत चोर खेतों में ट््रैक्टर घुसा कर भाग गए।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned