30 रुपए की लागत में बनने वाला सेनेटाइजर शहर की दवा दुकानों पर तीन गुना तक हो रही बिक्री

 

-तीन दुकानों के निरीक्षण में न खरीदी बिल मिले और न स्टॉक का लेखा

By: Dharmendra Trivedi

Updated: 17 Mar 2020, 11:33 PM IST

ग्वालियर। कोराना वायरस इफैक्ट को मेडिकल स्टोर संचालकों ने सेनेटाइजर और मास्क मूल लागत से तीन गुना दाम में बेचा जा रहा है। लगाताार शिकायतों के बाद सोमवार को पत्रिका टीम ने शहर के चार क्षेत्रों में जाकर दवा दुकानों से सेनेटाइजर और मास्क मांगे थे अधिकतर जगह लागत से दो या तीन गुना कीमत मिली। आम जन को जागरुक करने के लिए यह खबर में प्रकाशित होने के बाद कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मंगलवार को औषधि विभाग के अधिकारियों को निरीक्षण के लिए भेजा था।

अचानक हुए इस निरीक्षण में तीन मेडीकल स्टोर और एजेंसी पर न तो बिल मिले और न ही खरीदी से संबंधित अन्य लेखा तैयार किया गया था। इन दवा दुकानों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के साथ ही लाइसेंस निलंबन की कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। अधिकारियों ने दवा विक्रेताओंं से न्यूनतम मार्जिन पर सेनेटाइजर और मास्क की बिक्री के निर्देश दिए हैं।


यह मिली स्थिति

-ड्रग इंस्पेक्टर अजय ठाकुर ने अकेले जाकर कस्तूरबा मार्केट स्थित न्यू लक्ष्मी मेडिकल स्टोर, जनक गंज हॉस्पिटल के पास स्थित विजय मेडिकल एजेंसी, रॉक्सी पुल के पास संचालित राज मेडिकल एंड सर्जिकल एजेंसी पर रैंडम चेङ्क्षकग की। इन तीनों में विजय मेडिकल एजेंसी पर 150 एमएल के 264 सेनेटाइजर मिले। जबकि अन्य दुकानों पर मास्क और सेनेटाइजर कम मिले हैं। सूत्र बताते हैं कि एक जगह कार्रवाई होते ही पूरे बाजार में खबर फैल गई थी और जिन दुकानों पर जमकर स्टॉक किया गया है, उन्होंने सात से आठ नग ही अपनी दुकानों पर रखे, बाकी गायब कर दिए।


यह दी हिदायत

औषधि विभाग के अधिकारी ने दवा विक्रेताओं से एमआरपी के आधार पर न्यूनतम दाम लिखकर रेट लिस्ट लगवाने के निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान दुकानदारों ने बताया कि होलसेलर के यहां से ज्यादा दाम में सेनिटाइजर और मास्क मिल रहे हैं। इस पर होलसेलर्स और मैन्यूफैक्चरर्स की लिस्ट भी मांगी गई है। इसके साथ ही यह हिदायत दी गई है कि जहां से सस्ता मिले वहां से खरीद की जाए।


इतनी आती है लागत

अधिकारियों के अनुसार मानक स्तर पूरे करने वाले 100 एमएल सेनिटाइजर बनाने में अधिकतम 30 से 35 रुपए लागत आती है। इस पर एमआरपी अधिकतम लिखी जाती है। जबकि इसको होलसेलर मार्जिन, रिटेलर मार्जिन जोडऩे के बाद भी अधिकतम 70 से 75 रुपए तक ही बेचा जाना चाहिए। लेकिन वर्तमान में 100 एमएल का सेनिटाइजर 130 रुपए, 90 रुपए, 85 रुपए, 120 रुपए जैसे अलग-अलग दाम में मिल रहा है।

 

-मंगलवार को दवा दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण किया था। रैंडमली किए गए तीन दुकानों के निरीक्षण मेंं कमियां मिली हैं, जिसके आधार पर इनको कारण बताओ नेाटिस और लाइसेंस निलंबन की कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। इसके साथ ही शहर के सभी दवा विक्रेताओं को न्यूनतम मार्जिन के साथ सेनिटाइजर और मास्क विक्रय करने की हिदायत दी है।
अजय ठाकुर, औषधि निरीक्षक

Dharmendra Trivedi Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned