सरकार के खिलाफ उतरे स्कूल संचालक, आंदोलन की चेतावनी

इंदरगढ़. नगर के दतिया रोड स्थित गायत्री शक्ति पीठ पर प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन की रविवार को बैठक आयोजित की गई। बैठक में नगर के समस्त प्रायवेट स्कूलों के संचालक उपस्थित रहे।

By: Vikash Tripathi

Published: 07 Mar 2021, 11:57 PM IST


बैठक में निर्णय लिया गया कि सभी प्रायवेट स्कूलों के संचालक सरकार के तुगलकी फरमान के विरोध में सोमवार 8 मार्च को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेगे और अगर आदेश वापस नहं लिए गए तो आंदोलन, चक्काजाम व सड़कों पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा। प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के संभागीय महासचिव संतोष उपाध्याय ने कहा कि सरकार ने प्रायवेट स्कूलों को तुगलकी फरमान जारी किया है कि अगर छात्रों को परीक्षा से वंचित किया गया और उनके कागज रोके गए तो स्कूल संचालकों को तीन साल की सजा और एक लाख रूपए का जुर्माना देना पड़ेगा।

सरकार के इस तुगलकी फरमान का सभी स्कूल संचालक विरोध करते हंै कि सरकार को इस प्रकार के आदेश निकालने का कोई अधिकार नही है। अगर स्कूल संचालक छात्रों से पूरी फीस लेने के बाद अगर कागज नहीं देता है तो सरकार का हक है वह स्कूल संचालक पर कार्यवाही कर सकती है। अगर हमने वैधानिक तरीके से पूरी साल बच्चों को पढ़ाया है अगर हम पूरी फीस मांगते है तो हम दायरे में काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि शासन के तुगलकी फरमान का पूरे प्रदेश में पुरजोर विरोध किया जाएगा। चक्काजाम करेंगे, सडकों पर उतरेंगे। धरना एवं भूख हड़ताल की स्थिति निर्मित होगी तो हम नहीं चूकेंगे। 8 मार्च सोमवार को जिले के समस्त स्कूलों के संचालक कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेगे कि आदेश वापस लिए जाए। बैठक में एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रसीद खान, संभागीय संगठन मंत्री गजेन्द्र पाण्डेय, रविन्द्र सिंह भदौरिया, नवनीत श्रीवास्तव, आरके शर्मा, मनोज गुप्ता, मकरन्द राजावत, शैलेन्द्र धाकड़ समेत अन्य संचालकगण उपस्थित रहे।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned