दंपति को बंधक बनाकर लूटने वालों की तलाश में टेकरी पर सर्चिंग

दंपति को बंधक बनाकर लूटने वालों की तलाश में टेकरी पर सर्चिंग
दंपति को बंधक बनाकर लूटने वालों की तलाश में टेकरी पर सर्चिंग,दंपति को बंधक बनाकर लूटने वालों की तलाश में टेकरी पर सर्चिंग,दंपति को बंधक बनाकर लूटने वालों की तलाश में टेकरी पर सर्चिंग

Punit Shrivastava | Updated: 23 Sep 2019, 08:23:10 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

लोग बोले खुलेआम चलते नशे ,जुए के अडडे

 

 

पुनीत श्रीवास्तव

ग्वालियर। रामकुई पर शनिवार-रविवार रात को गुमटी लगाने वाले संजय शर्मा के घर में घुसकर तंमचे अड़ाकर लूटपाट करने वाले बदमाश नहीं मिले हैं। उनकी पहचान के लिए सत्यनारायण की टेकरी पर रहने वालों को सीसीटीवी फुटेज में उनका मूवमेंट दिखाया है, लेकिन दोनों लुटेरों की सटीक पहचान नहीं हुई है। सोमवार को एएसपी सत्येन्द्र तोमर ने फोर्स के साथ फिर घटनास्थल का निरीक्षण किया। उस रूट को भी देखा जिससे दोनों लुटेरे भागे थे। उन्होंने गेंडवाली सडक़ पुलिस सहायता केन्द्र के पास खडी होने वाली डायल १०० को नसिया जैन मंदिर की घाटी पर खडे होने के निर्देश दिए क्योंकि यहां लोगों ने पुलिस को बताया कि रात के वक्त इस रास्ते से अपराधिक प्रवृति के लोगों का मूवमेंट शुरु होता है। संजय के घर में लूटपाट करने घुसे बदमाशों ने भी इसी रास्ते का इस्तेमाल किया था।
रामकुई पर संजय के घर में घुसकर उनके सहित पत्नी माया शर्मा, बेटे सागर को बंधक बनाकर लूट करने वाले बदमाशों का पता नहीं चला है। पुलिस मान रही है कि दोनों लुटेरों का ठिकाना सत्यनारायण की टेकरी पर ही है। दोनों वहीं से आए थे। उन्हें संजय की दुकान और उसके परिवार के बारे में भी जानकारी रही है। लुटेरों को उम्मीद थी कि तंमचे की दम पर दंपति और उनके बेटे को काबू कर लूटपाट कर लेंगे। लेकिन संजय और उसकी पत्नी ने हिम्मत दिखाकर उन्हें पटक लिया तो दोनों बदमाशों को भागना पड़ा। उनकी पहचान के लिए सत्यनारायण की टेकरी पर रहने वालों से जानकारी जुटाई जा रही है। सोमवार को उनकी तलाश में टेकरी पर पुलिस चढी तो लोगों ने बताया कि यहां नशे और सटटे का धंधा जोरों पर चलता है। रात के वक्त जुआरियों और नशेडिय़ो की फड लगती है इससे आशंका है कि लुटेरे भी इसी जमात से उठकर वारदात करने गए थे।

उन्हें यह भी पता था कि किस रास्ते से जाने पर उनकी पहचान नहीं होगी। क्योंकि संजय की दुकान तक पहुंचने के लिए गेडेवाली सडक़ से दो रास्ते हैं। इलाके में रात को पानी सप्लाई होती है तो पानी भरने के लिए एक रास्ते पर लोगों जगार हो जाती है, जबकि दूसरा रास्ता नसिया जैन मंदिर से होकर रामकुई पर जाता है इस पर सन्नाटा रहता है। इसलिए दोनों लुटेरे उसी रास्ते से गए थे। सोमवार को एएसपी सत्येन्द्र तोमर ने घटनास्थल का निरीक्षण कर इंदरगंज और जनकगंज थानेे के फोर्स को भी मौके पर बुलाकर लुटेरों को पकडऩे की हिदायत दी। उधर वारदात के बाद संजय का परिवार सहमा हुआ है। रात को संजय और उसके पडोसी अपने स्तर पर चौकसी करते रहे। शनिवार-रविवार रात करीब डेढ बजे लुटेरे संजय के घर में घुसे थे। तंमचे की नोंक पर परिवार को बंधक बनाकर माया के कान से टाप्स और बालियां उतारीं थीं। दुकान में घुसकर करीब १० हजार रुपया लूटा था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned