scriptSection-144 implemented for the next two months | अगले दो महीने तक धारा-144 लागू, पशुओं का आवागमन और परिवहन रहेगा प्रतिबंधित | Patrika News

अगले दो महीने तक धारा-144 लागू, पशुओं का आवागमन और परिवहन रहेगा प्रतिबंधित

-लंपी से बचाव को लेकर एडवाइजरी के साथ जारी हुआ प्रतिबंधात्मक आदेश
-प्रभावित गायों को बंधौली गोशाला मेंं किया जाएगा क्वारंटाइन

ग्वालियर

Published: September 19, 2022 10:39:48 pm

ग्वालियर। राजस्थान में गायों में फैले लंपी रोग का प्रभाव ग्वालियर सहित आसपास के जिलों में दिखने लगा है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के खतरे को ध्यान में रख अब कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने पशुओं के आवागमन और परिवहन को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है। धारा-144 के अंतर्गत दिए आदेश के साथ ही कलेक्टर ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि राजस्थान और अन्य राज्य या फिर आसपास के जिलों से वाहन से या पैदल कोई भी गाय या भैंस को प्रवेश न करने दिया जाए। यह आदेश अगले दो महीने तक प्रभावी रहेगा। जबकि शहरी क्षेत्र में अगर लक्षण दिखे तो गायों को बंधौली स्थित आइसोलेशन सेंटर में क्वारंटाइन किया जाएगा।
सावधानी अपनाई तो नहीं होगा खतरा
पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक डॉ अशोक तोमर के अनुसार लंपी रोग के लक्षण दिखने के तुरंत बाद अगर उपचार शुरू कर दिया जाए तो यह रोग आसानी से नियंत्रित हो सकता है। इस बीमारी की मृत्युु दर 1 से 5 प्रतिशत तक है लेकिन संक्रमण दर 20 प्रतिशत तक है, इसलिए प्रत्येक पशु पालक सावधानी जरूर अपनाए।
यहां रखी जाएंगीं संक्रमित गायें
-संक्रमण की संभावनाओं को ध्यान में रख बंधौली गोशाला को आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। सेंटर में नगर निगम क्षेत्र की प्रभावित गायें भेजी जाएंगीं। गायों के लिए चारे आदि का इंतजाम भी नगर निगम करेगा।
इन डॉक्टरों पर जिम्मेदारी
-हस्तिनापुर के लिए डॉ एमएस बघेल, एवीएफओ भरत कुमार सिरोहिया, बीएम शर्मा, उटीला क्षेत्र के लिए डॉ डीके गुप्ता, एवीएफओ बदन सिंह नरवरिया, गौरीशंकर कौशल, रौरा क्षेत्र के लिए डॉ ओपी गुप्ता, डबका क्षेत्र के लिए एवीएफओ मनोज कुमार सेन को जिम्मेदारी दी गई है।
यह हैं निर्देश
-राजस्थान सहित अन्य राज्य और आसपास के जिलों से गाय या भैंस जिले में नहीं लाई जाएंगीं।
-जिले के सभी पशु हाट और पशु बाजारों में क्रय विक्रय प्रतिबंधित रहेगा।
-संक्रमण हुआ तो संबंधित संक्रमित क्षेत्र के पशुओं को आसपास के अन्य क्षेत्रों में जाने से रोका जाएगा।
-संक्रमित पशु के मालिक अपने पशुओं को सार्वजनिक हौद, तालाब सहित अन्य स्थानोंंं पर नहीं ले जाएंगे।
-पशु पालन वाले क्षेत्र में मक्खी, मच्छर के नियंत्रण के लिए कीटनाशक का छिड़काव नगर निगम, नगर पालिका या अन्य निकाय कराएंगे।
-संक्रमित पशु की मृत्यु होने पर शव का निष्पादन गहरे गड्ढे में नमक ओर चूना डालकर किया जाएगा।
वर्सन
-लंपी रोग से राजस्थान में पशु सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, दूध उत्पादन भी कम हुआ है। संक्रमण की बढ़ती दर को ध्यान में रखकर धारा-144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। अन्य प्रदेश या आसपास के जिलों से पशुओं को किसी भी तरह से जिले की सीमा में नहीं लाया जा सकेगा। अगले दो महीने तक यह आदेश प्रभावी रहेगा।
कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, कलेक्टर
अगले दो महीने तक धारा-144 लागू, पशुओं का आवागमन और परिवहन रहेगा प्रतिबंधित
अगले दो महीने तक धारा-144 लागू, पशुओं का आवागमन और परिवहन रहेगा प्रतिबंधित

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Nitin Gadkari का बड़ा ऐलान, अगले साल से सभी गाड़ियों में 6 एयरबैग लगाना हुआ अनिवार्यPFI पर ऐक्शन से पाकिस्तान में खलबली, संयुक्त राष्ट्र के सामने लगाई गुहारअशोक गहलोत का ऐलान, नहीं लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, बोले- दो दिन पहले हुई घटना से बहुत आहतटी20 वर्ल्ड कप से पहले भारत को बड़ा झटका, चोट के चलते जसप्रीत बुमराह टूर्नामेंट से बाहर हुएमहिलाओं के हक में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- विवाहित की तरह अविवाहित को भी गर्भपात का अधिकारसोशल मीडिया पर भी लगाम, प्रतिबंध के बाद अब PFI का ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट भी हुआ बंदJammu-Kashmir News: उधमपुर भेजी गई NIA की टीम, 8 घंटे के अंदर हुए 2 सीरियल ब्लास्ट मामले में कर रही जांचअंकिता भंडारी मर्डर केस में आरएसएस नेता पर दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.