एग्जीबिशन में कलाप्रेमी पहुंच रहे पेंटिंग देखने

तानसेन कलावीथिका में 'रंगराग' चित्रकला प्रदर्शनी का उद्घाटन बुधवार को किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम के सहायक निदेशक पुष्प राजन उपस्थित रहे।

By: Harish kushwah

Published: 05 Sep 2019, 08:27 PM IST

ग्वालियर. तानसेन कलावीथिका में 'रंगराग' चित्रकला प्रदर्शनी का उद्घाटन बुधवार को किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम के सहायक निदेशक पुष्प राजन उपस्थित रहे। एग्जीबिशन में 40 से अधिक पेंटिंग शामिल की गईं। पहले दिन ही काफी संख्या में कलाप्रेमी पेंटिंग देखने पहुंचे। यह एग्जीबिशन फाइन आर्ट कॉलेज के प्रो. डीपी शर्मा की स्मृति में लगाई गई है।

कलाकार ने पेंटिंग में विभिन्न रंगों के माध्यम से शहर में लगातार बढ़ रही जनसंख्या को दर्शाया है। शहरीकरण के कारण बन रहे कंक्रीट के जंगलों को भी दिखाया गया है।

डॉ. नीना खरे

प्रेम के महत्व को दर्शाया

इस पेंटिंग को एक्रेलिक कलर से तैयार किया गया है। इसमें पानी में रहने वाली मछलियों के जीवन और समाज में परिवार में प्रेम के महत्व को दर्शाने का प्रयास किया गया है।

अनूप शिवहरे

पेंटिंग में हेरिटेज संरक्षण का संदेश दिया गया है। इसमें पुरानी इमारत में टूटी हुई मूर्तियां एवं महल के माध्यम से पुरातन सभ्यता और संस्कृति की झलक पेश की गई है। दूसरी पेंटिंग में चित्रकार ने मंदिर में टंगे हुए घंटों को दर्शाया हैं। मंदिरों के प्रवेश द्वार के दृश्य को अंकित किया है। इसमें यह बताया गया है कि घंटे की आवाज से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है।

उमेन्द्र वर्मा

त्रिकोण एवं ध्यान बिंदु को उकेरा

चित्रकार ने इस चित्र में ध्यान बिंदु को दर्शाया है, जिसमें ध्यान चक्र में तारा बनाया है, जिसमें त्रिकोण एवं ध्यान बिंदु को उकेरा गया है। यह चक्र सभी का ध्यान अपनी ओर खींचता प्रतीत होता है।

सोमेश सोनी

Harish kushwah
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned