हीराकुंड में खाना चढ़ाने आए अवैध वेंडर अधिकारियों को देख वहीं छोडकऱ भागे, शताब्दी के खाने में भी मिली गंदगी

काफी देर तक कोई खाना लेने नहीं आया तो अधिकारियों ने जब्त कर खाने को नष्ट करवा दिया

By: Rahul rai

Published: 10 Mar 2019, 07:04 AM IST

ग्वालियर। हीराकुंड एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में शनिवार को सुबह खाना चढ़ाने आए अवैध वेंडर प्लेटफॉर्म पर रेलवे के सीनियर डीसीएम एवं अन्य अधिकारियों को देखकर खाना और पानी वहीं छोडकऱ भाग गए। काफी देर तक कोई खाना लेने नहीं आया तो अधिकारियों ने जब्त कर खाने को नष्ट करवा दिया। वहीं शताब्दी एक्सप्रेस में चढ़ाए जा रहे खाने के पैकेटों में गंदगी दिखने पर अधिकारियों ने नाराजगी जताई।

 

झांसी से आकर आगरा की तरफ जाने वाली हीराकुंड एक्सप्रेस सुबह 9.30 बजे के करीब प्लेटफॉर्म दो पर आई, इससे कुछ देर पहले ही रेलवे के सीनियर डीसीएम विपिन कुमार सिंह झांसी से ग्वालियर आए थे और इसी प्लेटफॉर्म पर रेलवे अधिकारियों के साथ खड़े थे। जैसे ही हीराकुंड एक्सप्रेस के आने का समय हुआ, तभी कुछ अवैध वेंडर दाल चावल और पराठे पेंट्रीकार में चढ़ाने के लिए लाए, लेकिन अधिकारियों को देखकर ट्रेन में खाना नहीं चढ़ा सके और वहीं छोडकऱ भाग गए।

 

प्लेटफॉर्म पर खाने के पैकेट, दाल और सब्जी बर्तन में बंद देखकर अधिकारी वेंडर को तलाशने लगे, लेकिन खाने का मालिक नहीं आया, इस पर रेलवे अधिकारियों ने पराठे के 35 पैकेट, दो बड़े बर्तन में रखी दाल और सब्जी को जब्त कर लिया। साथ ही पमपम पानी के 21 कार्टन भी जब्त किए गए। कार्रवाई के दौरान झांसी के सीसीआइ अनिल श्रीवास्तव, सीसीआइ वाइके मीणा आदि उपस्थित थे।

 

शताब्दी के खाने के पैकेटों पर थी गंदगी
दिल्ली से चलकर भोपाल जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस में ग्वालियर से शताब्दी की बेस किचन से खाना चढ़ाया जाता है। ट्रेन के आने के समय सीनियर डीसीएम ने खाने के पैकेट चढ़ते देखे, जिनमें गंदगी थी और पैकिंग अच्छी नहीं थी, इस पर उन्होंने कैंटीन कर्मचारियों पर नाराजगी व्यक्त की। साथ ही बेस किचन के दो कर्मचारियों पर प्लेटफॉर्म पर आने की परमिशन नहीं थी, जिन पर जुर्माना लगाया गया।

 

नष्ट कराया खाना
रेलवे अधिकारियों ने जब्त किए गए खाने को पार्सल में रखवा कर नष्ट कराने की कार्रवाई की। पानी को जब्त किया है।

 

एक ट्रॉली सामान बचाकर निकले
रेलवे स्टेशन पर अधिकारियों की शह पर ही अवैध वेंडरों के हौसले बुलंद हैं। कई ट्रेनों में अभी भी अवैध रूप से खाना चढ़ाया जा रहा है। शनिवार को खाने के साथ दो ट्रॉली में पानी ट्रेनों में चढ़ाने के लिए आया था। रेलवे सूत्रों की मानें तो रेलवे अधिकारियों को मौके पर देखकर एक ट्रॉली सामान लेकर मौका देखकर वेंडर भाग निकले।

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned