सेनेटरी पैड के दामों में आई भारी गिरावट,अब ये है नई कीमत

सेनेटरी पैड के दामों में आई भारी गिरावट,अब ये है नई कीमत

monu sahu | Publish: Sep, 16 2018 11:09:28 AM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

सेनेटरी पैड के दामों में आई भारी गिरावट,अब ये है नई कीमत

ग्वालियर। महिलाओं को पीरियड के दौरान उपयोग में आने वाले सेनेटरी पैड को टैक्स फ्री करने के बाद भी पापुलर ब्रांड्स मुनाफा वसूली करने में जुटे हुए हैं। सरकार ने सेनेटरी पैड को 27 जुलाई 2018 को जीएसटी से मुक्त कर दिया था। इससे पूर्व जीएसटी पैड पर 12 फीसदी जीएसटी लगाया जा रहा था। सेनेटरी पेड पर जीएसटी हटने के बाद भी कंपनियों द्वारा पुराने दाम पर ही इनकी बिक्री करके मनमानी की जा रही है, कहने को इन पर एक रुपया कम कर दिया गया है। विक्रेताओं के मुताबिक शहर में हर माह 25 लाख रुपए से अधिक के सेनेटरी पैड की बिक्री होती है।

 

समझें कंपनियों की गड़बड़ी
20 पैकेट वाले सेनेटरी पैड जिस पर पहले 12 फीसदी जीएसटी लगता था वह बाजार में एमआरपी के साथ 75 रुपए में बेचा जा रहा था। जब सरकार ने इस पर 12 फीसदी जीएसटी घटाकर उसे जीरो कर दिया तब कंपनियों को इसके दाम कम से कम 68 रुपए करने चाहिए थे, लेकिन ऐसा नहीं करते हुए सिर्फ एक रुपया कम करके उसे 74 रुपए की कीमत पर बाजार में बेचा जा रहा है।

 

जारी किया है हेल्पलाइन नंबर
सरकार की ओर से जिन उत्पादों पर जीएसटी की दरों में कमी की गई है उन पर ग्राहक को फायदा मिलना चाहिए। यदि कोई मुनाफाखोरी करके इसका फायदा ले रहा है तो इसके लिए उसकी शिकायत भी की जा सकती है। इसके लिए हाल ही में जीएसटी विभाग की ओर से एक हेल्पलाइन नंबर 011-21400643 भी जारी किया गया था।

 

सरकार करे कार्रवाई
"जीएसटी के अनुरूप कंपनियां उत्पाद की एमआरपी कम नहीं कर रही हैं। जो सीधे-सीधे कंपनियों की मुनाफाखोरी इंगित करती है। सेनेटरी पेड के मामले में भी यही हो रहा है। सरकार को इस पर गंभीरता से सख्त कार्यवाही करनी चाहिए।"
विष्णु सिंघल, अध्यक्ष, ग्वालियर केमिस्ट एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन

 

"कंपनियों को जीएसटी की छूट का फायदा देश की महिलाओं को देना चाहिए। यदि वे ऐसा हो रहा है कि उनको जीएसटी टैक्स की छूट नहीं मिल रही है तो उन्हें इस बारे में उपभोक्ता मंच के जरिए शिकायत जरूर दर्ज करानी चाहिए।"
अनिल अग्रवाल, उपाध्यक्ष, एमपी टैक्स लॉ बार एसोसिएशन

Ad Block is Banned