स्वास्थ्य शिविर लगाकर करते हैं पीड़ितों की सेवा

स्वास्थ्य शिविर लगाकर करते हैं पीड़ितों की सेवा
स्वास्थ्य शिविर लगाकर करते हैं पीड़ितों की सेवा

Harish kushwah | Updated: 12 Oct 2019, 08:41:11 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

सामाजिक संस्था महाकाल नवचेतना पर्यावरण समिति पर्यावरण के लिए लोगों को जागरुक करने के साथ ही अब महिलाओं को रोजगार मिले इसके लिए प्रयास कर रही है। इसके लिए शुरुआत में पांच महिलाओं को सिलाई से संबंधित काम देकर उन्हें रोजगार दिया जाएगा।

ग्वालियर. सामाजिक संस्था महाकाल नवचेतना पर्यावरण समिति पर्यावरण के लिए लोगों को जागरुक करने के साथ ही अब महिलाओं को रोजगार मिले इसके लिए प्रयास कर रही है। इसके लिए शुरुआत में पांच महिलाओं को सिलाई से संबंधित काम देकर उन्हें रोजगार दिया जाएगा। समिति की सचिव मधुलिका क्षीरसागर ने कहा कि हम अब पर्यावरण संरक्षण के संदेश के साथ ही महिलाओं को रोजगार देने के लिए कपड़े के थैले सिलने का काम महिलाओं को देंगे। इसके अलावा सिलाई के अन्य कार्य भी महिलाओं को सिखाकर उन्हें रोजगार देने के प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए शुरुआत में पांच महिलाओं को रखा जाएगा, बाद में आवश्यकता के अनुसार इसे और विस्तारित किया जाएगा। इसके लिए संस्था द्वारा बाजार में दुकानदारों से चर्चा भी कर ली है। फिलहाल यह काम लश्कर में प्रारंभ किया जाएगा। क्षीरसागर ने कहा कि महंगाई के दौर में ऐसी महिलाएं जिन्हेंपरिवार के पालन के लिए रोजगार की आवश्यकता है उन्हें इसके लिए चयन किया जाएगा।

महाकाल नवचेतना पर्यावरण समिति पिछले नौ साल से कुछ-कुछ कार्यक्रम करती रही है। संस्था द्वारा रक्तदान शिविर, स्वास्थ्य परीक्षण शिविर नियमित लगाए जाते हैं। इसके अलावा युवतियों को स्वरोजगार के लिए एवं महिलाओं व लडकियों को स्वरोजगार के लिए सिलाई एवं कढ़ाई का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। संस्था ने हाल ही में जोशी परिवार में स्टोव फटने से हुई घटना में पीड़ित इस परिवार की मदद की।

पॉलीथिन मुक्ति के लिए कार्य करेगी संस्था

पॉलीथिन से मुक्ति के लिए संस्था द्वारा शीघ्र ही एक अभियान चलाया जाएगा। इसमें संस्था द्वारा हाथ ठेला वालों को समझाईश दी जाएगी और थैले भी बांटे जाएंगे। जिससे कि लोग पॉलीथिन का त्याग करना सीखें। संस्था द्वारा ऐसी महिलाएं जिन्हें परेशान किया जा रहा है उन्हें भी मदद भी दिलाई है। इसके लिए संस्था की सदस्य पुलिस के सहयोग से उन्हें उनका हक दिलाने के लिए प्रयासरत रही हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned