प्रसूताओं को नहीं मिल पा रहा है मेटरनिटी होम में इलाज, क्योंकि मंत्री जी समय नहीं है उसके लोकार्पण का

महिलाओं को नहीं मिल रहा है इलाज, क्योंकि मंत्री को समय नहीं है मेटरनिटी भवन के लोकार्पण करने का

By: Gaurav Sen

Published: 07 Jun 2018, 04:12 PM IST

ग्वालियर/ श्योपुर। जिला अस्पताल का नया मेटरनिटी भवन बनकर तैयार हो गया है। लेकिन इसका लोकार्पण अटक है। कारण यह है कि स्वास्थ्य विभाग इस नए मेटरनिटी भवन का लोकार्पण प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से कराना चाहता है,मगर स्वास्थ्य मंत्री के श्योपुर आने की डेट नहीं मिल पा रही है। ऐसे में मेटरनिटी भवन लोकार्पण का इंतजार कर रहा है।

मेटरनिटी भवन का लोकार्पण अटक जाने से जिला अस्पताल का कायाकल्प भी रुक गया है। यहां बता दें कि जिला अस्पताल में करीब दो करोड़ रुपए की लागत से नया मेटरनिटी भवन बनकर तैयार हो गया है। निर्माण एजेंसी पीआईयू के द्वारा मेटरनिटी भवन को बनाने के बाद इसे स्वास्थ्य विभाग के हैंडओवर कर दिया। स्वास्थ्य विभाग ने भी हैंडओवर होने के बाद नए भवन में सभी सुविधाएं भी विकसित कर दी है और अब देर है तो इसका लोकार्पण होने की। स्वास्थ्य विभाग के अफसर इसका लोकार्पण प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से कराना चाहते है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अफसर प्रयास भी कर रहे है। लेकिन प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के श्योपुर आने का कार्यक्रम नहीं बन पा रहा है। जिस कारण इसका लोकार्पण अटक गया है।

 

यह भी पढ़ें: जेब में रखे 2150 रू. और छोड़ दिया लाचार बुजुर्ग को लावारिस, देखिए कहीं ये व्यक्ति आपकी जान पहचान के तो नहीं....

 

अभी डॉक्टरों को ढूंढने पड़ते है मरीज
यहां बता दें कि अभी जिला अस्पताल में मरीजों को बीमारी बार भर्ती करने के लिए वार्ड व्यवस्था नहीं है। जिसकारण टीबी सहित अन्य गंभीर बीमारी के मरीज भी सामान्य मरीजों के साथ ही वार्ड में भर्ती बने रहते है। ऐसे में बीमारियां फैलने का डर बना रहता है। वहीं डॉक्टरों को भी मरीजों को ढूंढना पड़ता है।

 

यह भी पढ़ें: 'तुम AC में रहती हो, गर्मी में पानी लाने की पीड़ा तुम क्या जानो'

लोकार्पण अटका तो अस्पताल का कायाकल्प भी रुका

नए मेटरनिटी भवन का लोकार्पण अटक जाने से जिला अस्पताल का कायाकल्प भी रुक गया है। ऐसा इसलिए कि नए मेटरनिटी भवन में लोकार्पण के बाद मेटरनिटी वार्ड को शिफ्ट करने के उपरांत अस्पताल प्रबंधन ने जिला अस्पताल का कायाकल्प करने की योजना भी तैयार कर ली। मगर लोकार्पण न होने के कारण मेटरनिटी वार्ड की शिफ्टिंग नए भवन में रुक गई। वहीं अस्पताल का कायाकल्प भी अटक गया है।

 

ये बढऩी थी सुविधाएं
अस्पताल प्रबंधन ने जिला अस्पताल का कायाकल्प करने की जो योजना बनाई थी,उसके मुताबिक नए मेटरनिटी भवन में मेटरनिटी वार्ड और एनआरसी भवन शिफ्ट होने के बाद अस्पताल भवन में एसएनसीयू के नजदीक मदरवार्ड बनाने के साथ-साथ स्टोर रूम, बच्चों सहित महिला और पुरुष रोगियों के अलग-अलग वार्ड बनाए जाएंगे। वहीं हड्डी, सर्जरी, टीबी, आग से जले मरीज तथा मन कक्ष से जुड़े मरीजों के लिए भी अलग-अलग वार्ड बनाए जाएंगे। ऑपरेशन थिएटर भी अलग-अलग बनाए जाएंगे।

 

नया मेटरनिटी भवन पूरी तरह तैयार है। हमने कलेक्टर साहब को अवगत करा दिया है। लोकार्पण कराने के लिए स्वास्थ्य मंत्री जी से समय लेने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही इस भवन का लोकार्पण होगा।
डॉ एनसी गुप्ता, सीएमएचओ/सिविल सर्जन,श्योपुर

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned