scriptSo far 4 out of 350 businessmen have submitted returns, the last date | 350 कारोबारियों में से अब तक 4 ने ही जमा किए रिटर्न, खाद्य पदार्थों के वार्षिक रिटर्न जमा करने की अंतिम तारीख है 31 मई | Patrika News

350 कारोबारियों में से अब तक 4 ने ही जमा किए रिटर्न, खाद्य पदार्थों के वार्षिक रिटर्न जमा करने की अंतिम तारीख है 31 मई

- तारीख निकलने के बाद 100 रुपए रोज के हिसाब से लगनी है पेनल्टी, खाद्य विभाग का रिटर्न भरने में कारोबारियों को आ रही परेशानी, खाद्य विभाग का अमला नहीं कर रहा मदद

ग्वालियर

Updated: May 28, 2022 11:13:31 pm

ग्वालियर. खाद्य कारोबारियों को 31 मई तक वित्तीय वर्ष 2021-22 के वार्षिक रिटर्न दाखिल करना है। शहर में वार्षिक रिटर्न के दायरे में करीब 350 खाद्य कारोबारी आते हैं, पर अभी तक केवल 4 लोगों ने ही इसे जमा कराया है। रिटर्न दाखिल करने के लिए अब केवल तीन दिन का ही समय शेष बचा है, इसके बाद खाद्य कारोबारियों को 100 रुपए रोज के हिसाब से पेनल्टी जमा करनी पड़ेगी। वार्षिक रिटर्न दाखिल करने में कारोबारियों को पूरे वर्ष के उत्पादों की बिक्री और लाभ को प्रदर्शित करना है, जिसमें उन्हें परेशानी हो रही है। वहीं खाद्य विभाग का अमला इसमें उनकी मदद नहीं कर रहा है।
350 कारोबारियों में से अब तक 4 ने ही जमा किए रिटर्न, खाद्य पदार्थों के वार्षिक रिटर्न जमा करने की अंतिम तारीख है 31 मई
350 कारोबारियों में से अब तक 4 ने ही जमा किए रिटर्न, खाद्य पदार्थों के वार्षिक रिटर्न जमा करने की अंतिम तारीख है 31 मई
इन्हें जमा करना है वार्षिक विवरण
सभी खाद्य निर्माता, रिपेकर्स, रिलेवलर्स, इम्पोर्टर्स, खाद्य एक्सपोर्टर्स निर्माता को अपनी फर्म का वार्षिक विवरण (एनुअल रिटर्न) अनिवार्य रूप से 31 मई तक फोस्कोस के जरिए ऑनलाइन जमा करना है। अब ऑफलाइन भौतिक रिटर्न नहीं लिए जा रहे हैं। वहीं समय सीमा में वार्षिक वार्षिक रिटर्न दाखिल नहीं करने पर 100 रुपए रोजाना की पेनल्टी लगेगी। वार्षिक रिटर्न में वित्तीय वर्ष 2021-22 में उत्पादन किए गए खाद्य पदार्थ की मात्रा और उसकी कीमत के साथ दर्शानी है।
कारोबारियों को गाइड कर रहे हैं
खाद्य कारोबारियों को 31 मई तक वार्षिक रिटर्न जमा करना है। 350 कारोबारियों में से अब तक सिर्फ 4 ने ही इसे दाखिल किया है। ये बात सही है कि व्यापारियों को इसे जमा करने में दिक्कत आ रही है। वैसे हमारी ओर से भी कारोबारियों को गाइड किया जा रहा है। इसके लिए कारोबारियों की सूची निकालकर टीम ने फोन भी लगाए थे।
- अशोक सिंह चौहान, अभिहित अधिकारी, खाद्य सुरक्षा एवं प्रशासन विभाग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.