करप्शन रोकने तैयार किया सॉफ्टवेयर, पीएम से लाइव इंटरेक्शन

मिनिस्ट्री ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डवलपमेंट (एमएचआरडी) की ओर से भुवनेश्वर उड़ीसा में आयोजित स्मार्ट इंडिया हैकॉथान में शहर के एमआइटीएस की टीम ने बाजी मारी। उन्होंने एक ऐसा सॉफ्टवेयर डवलप किया, जो 99.9 परसेंट करप्शन को रोक सकेगा।

By: Harish kushwah

Published: 29 Mar 2019, 07:34 PM IST

ग्वालियर. मिनिस्ट्री ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डवलपमेंट (एमएचआरडी) की ओर से भुवनेश्वर उड़ीसा में आयोजित स्मार्ट इंडिया हैकॉथान में शहर के एमआइटीएस की टीम ने बाजी मारी। उन्होंने एक ऐसा सॉफ्टवेयर डवलप किया, जो 99.9 परसेंट करप्शन को रोक सकेगा। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से कोई भी सामान खरीदा और बेचा जा सकता है, जिस पर गवर्नमेंट की पूरी नजर रहेगी। इस सॉफ्टवेयर में ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी का यूज किया गया है। हैकॉथान में इस टीम के इनोवेशन के लिए फर्स्ट प्राइज दिया गया।

फर्स्ट राउंड में पार्टिसिपेट किया था 60 टीमों ने

इस कॉम्पीटिशन का सेकंड राउंड भुवनेश्वर में आयोजित हुआ। इसमें तीन टीमें पहुंची थीं। इनमें से एमआइटीएस फर्स्ट और मुंबई व बेंगलूरु की टीम रनरअप रही। इसके पहले फर्स्ट राउंड में 60 टीमों ने ऑनलाइन पार्टिसिपेट किया था, जिनमें से सेकंड लेवल के लिए 5 टीमों का सिलेक्शन किया गया। इनमें से 2 टीमें भुवनेश्वर नहीं पहुंच सकीं।

भुवनेश्वर में था कॉम्पीटिशन

एमआइटीएस के इस इनोवेशन के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ टीम का लाइव इंटरेक्शन हुआ था। इस दौरान उन्होंने स्टूडेंट्स से बात करने के साथ ही सॉफ्टवेयर के बारे में समझा। यह इनोवेशन उन्हें पसंद आया और उन्होंने इसे एक्सेप्ट करने की भी बात कही। इस दौरान स्टूडेंट्स को मोटिवेट भी किया।

ये रही टीम

स्मार्ट इंडिया हैकॉथान में एमआइटीएस के कम्प्यूटर साइंस के 3 स्टूडेंट्स और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के 3 स्टूडेंट्स ने पार्टिसिपेट किया था। इनमें टीम लीडर निखिल राम, रूपाली पटेल, संध्या राणा, दीपन नंदा, भूमेन्द्र सिंह सिसोदिया, पंकज देवेश शामिल थे।

Harish kushwah
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned