scriptStarted writing books after retirement, teaching speaking skills to yo | रिटायरमेंट के बाद शुरू कीं किताबें लिखना, युवाओं को सिखा रहे स्पीकिंग स्किल | Patrika News

रिटायरमेंट के बाद शुरू कीं किताबें लिखना, युवाओं को सिखा रहे स्पीकिंग स्किल

कैबिनेट मिनिस्टर यशोधरा राजे सिंधिया ने किया बुक का विमोचन

ग्वालियर

Published: November 19, 2021 12:13:04 am

ग्वालियर.

रिटायरमेंट का मतलब अगले पड़ाव की अपॉच्र्युनिटी को हासिल करना है। न कि थकना या जीवन से हार मानकर अपने आपको एक कमरे या कुछ दोस्तों तक ही सीमित कर लेना। दरअसल रिटायमेंट के बाद का ही वह समय होता है, जब आपको समाज के लिए कुछ करना होता है। इसी सोच के साथ ग्वालियर के मुकेश थिरानी आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने हाल ही में एक बुक ‘टॉक सो दैट द वल्र्ड विल लिसन’ लिखी है, जिसका विमोचन हाल ही में कैबिनेट मिनिस्टर यशोधरा राजे सिंधिया, जेसीआई इंडिया के पास्ट नेशनल प्रेसीडेंट रवि शंकर, बामन कुमार ने किया। थिरानी वेदांता ग्रुप से रिटायर्ड हैं। अगले महीने इस किताब का हिंदी वर्जन आ रहा है। इसी के साथ वह दूसरी किताब लिख रहे हैं और अन्य किताबें लिखने पर वर्क चल रहा है।
रिटायरमेंट के बाद शुरू कीं किताबें लिखना, युवाओं को सिखा रहे स्पीकिंग स्किल
रिटायरमेंट के बाद शुरू कीं किताबें लिखना, युवाओं को सिखा रहे स्पीकिंग स्किल
वक्ता ऐसा हो, जिसे सुनने के साथ समझा भी जाए
थिरानी ने अपने कॅरियर में यह देखा कि युवाओं को अपनी बात कहनी नहीं आती, जिससे वह कई अपॉच्र्युनिटी खो देते हैं। इसीलिए उन्होंने अपनी इस किताब में सार्वजनिक भाषण के कौशल के बारे में विस्तार से चर्चा की है। उन्होंने बताया है कि पब्लिक स्पीकिंग किस तरह से आपके जीवन में एक महत्वपूर्ण स्किल साबित हो सकती है। उन्होंने बताया है कि एक वक्ता ऐसा होना चाहिए, जिसे ना केवल सुना जाए, बल्कि समझा भी जाए।
शब्दों का उपयोग कम, पिक्चर्स का अधिक
उन्होंने युवाओं में कम होती रीडरशिप को समझते हुए किताब में शब्दों का कम उपयोग करते हुए पिक्चर्स और इलस्ट्रेशंस के साथ इस कौशल को सिखाने की कोशिश की है। किताब को 12 भागों में बांटा गया है, जिसमें स्पीच प्लान करने से लेकर, डिलीवर करने तक के सारे स्टेप एक-एक करके डिटेल में समझाए गए हैं।
तीस वर्षों से दे रहे ट्रेनिंग, कई कॉर्पोरेट में किए प्रोग्राम्स
मुकेश थिरानी भारत अल्युमिनियम लिमिटेड वेदांता ग्रुप के डिपार्टमेंट ऑफ कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस में कंसल्टेंट के रूप में पदस्थ थे। उन्होंने प्रशिक्षण लेने की ट्रेनिंग, द ट्रेनिंग एकेडमी ऑफ जेसीआई यूनिवर्सिटी यूएसए से ली है। उन्हें पब्लिक स्पीकिंग के प्रशिक्षण देने में महारथ हासिल है। पिछले 30 वर्षों में उन्होंने कई सारे कॉर्पोरेट एनजीओस और संस्थानों के साथ ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए हैं, जिसमें बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स ऑफ इंडिया, चार्टेड एकाउंटेंट्स, रोटरी कन्वेंशंस, लायंस और जेसीआई कन्वेंशंस आदि शामिल हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.