प्रवेश उत्सव पर विद्यार्थी पहुंचे स्कूल, शिक्षक रहे गायब, हुई रस्म अदायगी

प्रवेश उत्सव पर विद्यार्थी पहुंचे स्कूल, शिक्षक रहे गायब, हुई रस्म अदायगी

| Updated: 02 Apr 2019, 01:46:14 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

अधिकारियों की मॉनिटरिंग के बाद स्कूलों की खुली पोल

ग्वालियर. स्कूलों में शिक्षा का नया सत्र शुरू हो चुका है। कुछ स्कूलों में नए सत्र के पहले दिन उत्साह से प्रवेश उत्सव मना तो कुछ स्कूलों में रस्मअदायगी हुई। जिले के कुछ स्कूल ऐसे भी है जहां छात्र तो स्कूल पहुंचे लेकिन शिक्षक ही अनुपस्थित मिले। ऐसे स्कूलों की पोल अधिकारियों की मॉनिटरिंग के दौरान खुली।
शिक्षा विभाग ने एक अप्रैल को सत्र शुरू किए जाने के साथ प्रवेश उत्सव मनाए जाने के निर्देश जारी किए। इस आदेश को कई स्कूलों में गंभीरता से नहीं लिया गया। शहरी क्षेत्र में स्कूलों में प्रवेश उत्सव को लेकर शिक्षकों द्वारा छात्र-छात्राओं को सूचना दी। अधिकांश छात्र दोपहर तक स्कूल नहीं आए। ऐसी स्थिति में अभिभावकों को फोन पर संपर्क करके छात्रों को स्कूल आने के लिए कहा गया। इस तरह स्कूल में छात्रों को बुलाया गया। प्रवेश उत्सव की मॉनिटरिंग करने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी भी फील्ड में निकले उन्होंने भी रिपोर्ट में शिक्षकों की लापरवाही पूर्वक रवैए की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी।

इन स्कूलों में दिखी लापरवाही
जिला शिक्षा अधिकारी संजीव शर्मा और डीपीसी विजय दीक्षित की टीम ने शहर व आस पास के स्कूलों का निरीक्षण किया। शासकीय माध्यमिक विद्यालय खुरैरी में शिक्षिका हेमलता अनुपस्थित मिली। इस स्कूल में जायफुल लर्निंग एवं शैक्षणिक गतिविधियां को शिक्षिकों द्वारा नहीं कराया गया। वहीं, इसी स्कूल के हेडमास्टर द्वारा गणवेश की राशि वितरित नहीं की गई। स्कूल के हेडमास्टर व शिक्षिका के खिलाफ वेतनवृद्धि रोके जाने की कार्रवाई की गई। इसी तरह शासकीय माध्यमिक स्कूल बड़ागांव में सहायक अध्यापक अनिल चतुर्वेदी व भृत्य अजय गुर्जर स्कूल में अनुस्थित रहे। दोनों की वेतनवृद्धि रोकी गई।
गीत गाए, कहानियां सुनीं, रिपोर्ट कार्ड किए वितरित
शहर के एमएलबी स्कूल, उत्कृष्ट स्कूल, पदमा स्कूल, गजराराजा स्कूल सहित अन्य स्कूलों में प्रवेश उत्सव को लेकर खासा उत्साह रहा। इन स्कूलों में बच्चों को तिलकर लगाकर कक्षा नौवीं में प्रवेश दिलाया गया। यहां बच्चों को पाठ्यपुस्तिक सामग्री का वितरण किया गया। स्कूल के छात्रों से शिक्षकों ने गीत सुनाने को कहा। कुछ छात्रों ने फिल्मी गीत तो कुछ ने देशभक्ति के गीत सुनाए। वहीं कुछ ने प्रेरक कहानियां सुनाई। इस दौरान छात्रों को रिपोर्ट कार्ड भी वितरित किए गए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned