गजब है एमपी,यहां चल रहा है स्वच्छता अभियान फिर भी जगह-जगह लगे है गंदगी के ढेर

गजब है एमपी,यहां चल रहा है स्वच्छता अभियान फिर भी जगह-जगह लगे है गंदगी के ढेर

monu sahu | Publish: Sep, 16 2018 10:50:18 AM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

गजब है एमपी,यहां चल रहा है स्वच्छता अभियान फिर भी जगह-जगह लगे है गंदगी के ढेर

ग्वालियर। प्रशासन द्वारा एक तरफ स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जा रहा है,वहीं शहर में कचरा प्रबंधन की कमान संभाल रही चीन से जुड़ी ईकोग्रीन कंपनी ने अव्यवस्था फैला दी है। कंपनी द्वारा अपने करीब ५०० कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा है,जिससे नाराज कर्मचारियों ने 13 सिंतबर से काम पूरी तरह बंद कर दिया है। शहर के २६ वार्डों से तीन दिन कचरा उठना पूरी तरह बंद है,इस कारण गलियों और चौराहों पर फिर से कचरे के ढेर लगने लगे हैं।

यह भी पढ़ें : mp election 2018 : भाजपा को तीन साल बाद आई 5.70 लाख सदस्यों की याद,विधानसभा चुनाव पर पड़ेगा बड़ा असर

नहीं मिल रहा कोई लाभ
ईको ग्रीन कंपनी द्वारा कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा है। अधिकांश कर्मचारियों को श्रम कानून के तहत मिलने वाला ईएसआइ और ईपीएफ के लाभ का भी कोई पता नहीं है, जबकि कर्मचारियों को काम करते हुए दस माह से अधिक का समय हो गया है।

यह भी पढ़ें : Breaking : गैस से भरा सिलेंडर फटा,16 घायल,लोगों में भगदड़,See video

दिखावे का स्वच्छता अभियान
जिला प्रशासन ने शनिवार को शहर में स्वच्छता पखवाड़ा शुरू करके मंत्रियों को सफाई व्यवस्था के लिए सडक़ों पर उतार दिया है, लेकिन सवाल यह है कि जब अधिकारी शहर से कचरा कलेक्शन का काम ही नहीं करा पा रहे हैं तो ऐसे में स्वच्छता अभियान से होगा क्या।

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : अटल बिहारी वाजपेयी की संपत्ति को लेकर बड़ा खुलासा,गरमाई राजनीति

"कर्मचारियों का निगम से लेना देना नहीं हैं। उन्हें ईपीएफ का भुगतान समय पर करना चाहिए, यह कंपनी की जिम्मेदारी है। भाजपा नेताओं और अफसरों के संरक्षण में घोटाला किया जा रहा है। एडीबी वाले अफसरों कमान सौंप दी है, इससे यह योजना भी एडीबी जैसी हो जाएगी।"
कृष्णराव दीक्षित,नेता प्रतिपक्ष नगर निगम

 

"कर्मचारियों के वेतन वितरण में देरी का कारण, निगम ने कंपनी को अप्रैल से भुगतान नहीं किया है। कर्मचारी की हड़ताल को रोकने के लिए उनको राजी किया जा रहा है। कंपनी द्वारा वेतन का भुगतान करने के लिए फंड की व्यवस्था की जा रही है।"
अंकित अग्रवाल,सीईओ ईकोग्रीन एनर्जी

Ad Block is Banned