स्वाइन फ्लू का मरीज मिला, शहर में अलर्ट, जानिए क्या हैं लक्षण और कैसे करें बचाव

स्वाइन फ्लू का मरीज मिला, शहर में अलर्ट, जानिए क्या हैं लक्षण और कैसे करें बचाव

Rahul Aditya Rai | Publish: Sep, 09 2018 07:13:00 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य फ्लू प्रभारी मरीज के घर पहुंचे और जांच की।

 

ग्वालियर। शहर में स्वाइन फ्लू ने दस्तक दे दी है। जांच में एक व्यक्ति को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। मरीज का उपचार दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल में चल रहा है। जहां मरीज की स्थिति स्थिर बताई जा रही है। स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य फ्लू प्रभारी मरीज के घर पहुंचे और जांच की।

 

दौलतगंज निवासी 57 वर्षीय जगदीश गोयल को 1 सितंबर से सर्दी और जुकाम के साथ बुखार की शिकायत थी, जिसके उपचार के लिए वह सबसे पहले खुर्जेवाला मोहल्ला स्थित निजी नर्सिंग होम में उपचार के लिए पहुंचे थे, जहां उन्हें एक दिन भर्ती रखा, लेकिन उनकी तबीयत में कोई सुधार न होने से उन्हें बीआइएमआर हॉस्पिटल में रैफर कर दिया गया, जहां से परिजन गत दिवस दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल में लेकर पहुंचे, जहां स्वाइन फ्लू की जांच कराई गई, जिसमें उन्हें स्वाइन फ्लू पॉजिटिव निकला।

 

बच्चों को दी दवा
स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद जिला स्वास्थ्य फ्लू प्रभारी डॉ.महेन्द्र पिपरोलिया मरीज के घर पहुंचे और जांच की। डॉ.पिपरोलिया ने बताया कि मरीज के घर में दो महिलाएं और दो बच्चे मिले थे। बच्चों को सर्दी -जुखाम की शिकायत थी, इसी के चलते उन्हें स्वाइन फ्लू की दवा दे दी गई है।

 

स्वाइन फ्लू के लक्षण
स्वाइन फ्लू के लक्षणों में नाक का लगातार बहना, छींक आना, कफ, कोल्ड और लगातार खांसी, मांसपेशियों में दर्द या अकडऩ, सिर में भयानक दर्द, नींद न आना, ज्यादा थकान, दवा खाने पर भी बुखार का लगातार बढऩा, गले में खराश का लगातार बढ़ते जाना शामिल हैं।

 

ऐसे समझें स्वाइन फ्लू को
स्वाइन फ्लू, इनफ्लुएंजा (फ्लू वायरस) के अपेक्षाकृत नए स्ट्रेन इनफ्लुएंजा वायरस से होने वाला संक्रमण है। इस वायरस को ही एच1 एन1 कहा जाता है। इसे स्वाइन फ्लू इसलिए कहा गया था, क्योंकि ***** में फ्लू फैलाने वाले इनफ्लुएंजा वायरस से यह मिलता-जुलता था। स्वाइन फ्लू का वायरस तेजी से फैलता है। कई बार यह मरीज के आसपास रहने वाले लोगों और तीमारदारों को भी अपनी चपेट में ले लेता है। किसी में स्वाइन फ्लू के लक्षण दिखें तो उससे कम से कम तीन फीट की दूरी बनाए रखना चाहिए, स्वाइन फ्लू का मरीज जिस चीज का इस्तेमाल करे, उसे भी नहीं छूना चाहिए।

 

स्वाइन फ्लू की पुष्टि के बाद हमने मरीज के घर टीम भेजकर परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य की जांच कराई। सभी हॉस्पिटलों में सर्दी-जुकाम के मरीजों पर नजर रखने के निर्देश भी दिए हैं।
डॉ.मृदुल सक्सेना, सीएमएचओ

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned