22 हजार का लालच देकर 80 हजार रुपए ले उड़ा शातिर ठग, जाने कैसे

पत्नी की बहन का इलाज कराने के लिए आए किसान के 80 हजार रुपए बदमाश दिनदहाड़े ले भागा। वारदात गोला का मंदिर इलाके में दोपहर

ग्वालियर.पत्नी की बहन का इलाज कराने के लिए आए किसान के 80 हजार रुपए बदमाश दिनदहाड़े ले भागा। वारदात गोला का मंदिर इलाके में दोपहर करीब ढाई बजे हुई। हाईअलर्ट होने के बाद भी उसने किसान को लालच दिया कि वह सस्ते इलाज करवा देगा। बदमाश उसे गाड़ी पर बैठाकर अस्पताल से दूर लाया फिर उससे 80 हजार रुपए लेकर आधार कार्ड की फोटो कॉपी कराने भेज दिया। किसान वापस लौटा तो बदमाश पैसा लेकर गायब हो चुका था।
बृजभान यादव निवासी टकनेरा, गुना ने बताया कि पत्नी की बहन भूरिया बाइक से गिरकर घायल है। उसका इलाज कराने के लिए बहनोई हनुमन यादव को साथ गोला का मंदिर के निजी अस्पताल में आया था। दोपहर करीब 2 बजे अस्पताल पहुंचा था। अस्पताल कर्मी ने उससे आधार कार्ड की फोटो कॉपी मांगी वह बाहर आए तो गेट के पास बदमाश बैठा था। उसे देख बदमाश ने नमस्ते की, बोला कि भूरिया को इजेंक्शन दे दिया है। रिश्तेदार का नाम सुनकर भरोसा हो गया कि वह अस्पताल का कर्मचारी है। बदमाश ने कहा कि यहां महंगा इलाज होता है सरकार की योजना से उसे फायदा दिलवा देगा। 4 हजार रु की दवाएं मुफ्त मिलेंगी और 18 हजार भी नकद मिलेगा। बातों में फंसा कर बदमाश उसे स्कूटर पर बैठाकर ले गया और एक रेस्टोरेंट के सामने खड़े होकर बोला कि गरीबों योजना का फार्म मिल जाएगा लेकिन अंदर पैसा लेकर मत जाना उन्हें अगर मालूम पड़ गया कि तुम्हारे पास पैसा है तो योजना का फायदा नहीं मिलेगा। बदमाश पर यकीन कर जेब से 80 हजार रुपए उसे दे दिए। रेस्टोरेंट के अंदर जाकर फार्म के बारे में पूछा तो वहां मौजूद स्टाफ ने वापस लौटा दिया। बाहर आया तो बदमाश पैसा लेकर भाग चुका था।

सीसीटीवी में दिखा
पुलिस के मुताबिक बदमाश की हरकत अस्पताल के पास लगे सीसीटीवी में रेकार्ड हुई है। बदमाश का हुलिया देखकर पुलिस मान रही है कि बृजभान से 80 हजार रु लेकर भागने वाला इससे पहले जेएएच में इलाज के लिए आए मरीज के अटेंडर और मोतीमहल पर भी पिता पुत्र से सस्ते में इलाज का झांसा देकर पैसा लेकर भागने की वारदातें कर चुका है। उसकी पहचान की कोशिश की जा रही है।

बदमाश से बोला पैसा लेकर भाग मत जाना
बृजभान ने पुलिस को बताया कि रिश्तेदार के इलाज के लिए 90 हजार रुपए लेकर आया था। 10 हजार रुपए बहनोई हनुमन को दे दिए थे। बाकी रकम पेंट की अंदर की जेब में रखी थी। आशंका है बदमाश अस्पताल परिसर में ही मौजूद था।आधार कार्ड फोटो कॉपी कराने के लिए जाते वक्त पैसा जेब से निकाला था तो ठग ने देख लिया है तब उसे टारगेट किया। बदमाश को पैसे थमाते वक्त उससे कहा भी था रकम लेकर भाग मत जाना। तो बदमाश ने उसके सिर पर हाथ रखकर कसम खाई कि चिंता मत करो तुम्हारी मदद करने आया हूं।

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned