scriptTaking Antibody medicines without doctor's advice can be fatal for you | बिना डॉक्टर के सलाह के एंटीबॉडी की दवाएं लेना हो सकता है आपकी सेहत के लिए घातक | Patrika News

बिना डॉक्टर के सलाह के एंटीबॉडी की दवाएं लेना हो सकता है आपकी सेहत के लिए घातक

ओमिक्रोन ने देश ही नहीं विदेशों में भी दहशत फैला रखी है। साउथ अफ्रीका से निकला ओमिक्रोन वैरियंट देश में भी लगातार अपने पैर पसारता...

ग्वालियर

Published: January 17, 2022 08:08:30 pm

ग्वालियर. ओमिक्रोन ने देश ही नहीं विदेशों में भी दहशत फैला रखी है। साउथ अफ्रीका से निकला ओमिक्रोन वैरियंट देश में भी लगातार अपने पैर पसारता जा रहा है। इसके मरीज देश में बढ़ते जा रहे हैं। भारत में कोरोना के केस अब तक 3.74 करोड़ के पार निकल चुके हैं। जिनमें 4.86 लाख लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। अकेले महाराष्ट्र में ही 1.42 लाख लोगों को कोरोना अपना शिकार बना चुका है। महाराष्ट्र के बाद केरला और कर्नाटका का है यहां 50,832 और 38431 मौतें हुई हैं। वहीं मध्यप्रदेश में अब तक 8.31 लोग संक्रमित हो चुके हैं और मरने वालों का आंकड़ा 10,545 हो चुका है।
वहीं तीसरी लहर में कोरोना पीक पर आ रहा है तो इस तरह लोगों को ठगने वाले फिर सक्रिय हो गए हैं। इनकी बातों पर दावों पर भरोसा करने की बजाय लोगों को कोविड गाइडलाइन और वैक्सीन पर भरोसा करना चाहिए।
cms-1
बिना डॉक्टर के सलाह के एंटीबॉडी की दवाएं लेना हो सकता है आपकी सेहत के लिए घातक
लोगों के डर का उठा रहे फायदा
इन सब के बीच लोगों के मन के डर का फायदा उठाने वाले खूब लाभ उठा रहे हैं। कोरोना से बचने के लिए सरकार ने कोविड गाइडलाइन जारी की है, लेकिन कई डॉक्टर और मेडिकल वाले एंटीबाडी बढ़ाने के नाम पर दवा और इंजेक्शन का कारोबार कर अपना खेल चमका रहे हैं हालांकि चिकित्सक इसे थोथे दावे बता रहे हैं। चिकित्सकों का कहना है यह दवाएं और इंजेक्शन संक्रमण से नहीं बचा सकते।
सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी
सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क सबसे सुरक्षित जरिया है। कोरोना की दूसरी लहर में भी इसी तरह लोगों के डर का फायदा उठा कर उन्हें ठगने वाले बाजार में अपने प्रोडक्ट बेच रहे थे। लोग तमाम अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाएं एंटीबॉडी बढ़ाने के नाम पर लोगों के अंधेरे में रख अपना कारोबार चमका रहे थे।
एंटीबॉडी बढ़ाने वाली दवाएं लेना घातक हो सकता है
तीसरी लहर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है। हर दिन दोगुनी के करीब संक्रमित सामने आ रहे हैं। संक्रमितों को उसका सही इलाज लेना चाहिए। अपने हिसाब से एंटीबॉडी बढ़ाने वाली दवाएं लेना घातक भी हो सकता है।
डॉ. संजय धवले सीनियर डॉक्टर जेएएच

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.