scripttansen festival play tunes of 2 tehzeebs artists recit classical music | तानसेन समारोह में सजे दो तहजीबों के सुर, अर्जेंटीना और ब्राज़ील के कलाकारों ने सुनाया शास्त्रीय संगीत | Patrika News

तानसेन समारोह में सजे दो तहजीबों के सुर, अर्जेंटीना और ब्राज़ील के कलाकारों ने सुनाया शास्त्रीय संगीत

-प्रख्यात ध्रुपद गायक पंडित अभय नारायण मलिक राष्ट्रीय कालिदास सम्मान से विभूषित।
-पंडित वेंकटेश कुमार और विदुषी अश्विनी भिड़े देशपांडे भी कालिदास सम्मान से विभूषित दोनों का सम्मान कलाविद शशि व्यास ने ग्रहण किया।

ग्वालियर

Published: December 27, 2021 10:10:04 pm

ग्वालियर. विश्व संगीत समागम तानसेन समारोह में दूसरे दिन की शाम बेहद खास और खुशनुमा रही। सुबह की सभा में तो मिठास घुली ही थी, शाम की सभा में भी दो तहजीबों के सुर खिले। शाम की सभा मे भारतीय शास्त्रीय संगीत के फूल तो खिले ही ,अर्जेंटीना और ब्राज़ील से आए कलाकारों ने अपने अपने मुल्क के शास्त्रीय संगीत की ऐसी खुश्बू बिखेरी कि "मिले सुर मेरा तुम्हारा" की भावभूमि साकार हो उठी। ये रासभीनी शाम उस वक्त और खिल उठी जब तानसेन के मंच पर संगीत जगत की तीन विभूतियों को राष्ट्रीय कालिदास सम्मान से विभूषित किया गया

News
तानसेन समारोह में सजे दो तहजीबों के सुर, अर्जेंटीना और ब्राज़ील के कलाकारों ने सुनाया शास्त्रीय संगीत

ग्वालियर के संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना एवं उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी के निदेशक जयंत माधव भिसे ने सबसे पहले प्रख्यात ध्रुपद गायक पंडित अभय नारायण मलिक को वर्ष 2019 के राष्ट्रीय कालिदास सम्मान से विभूषित किया। इसके पश्चात वर्ष 2016 एवं 2017 के लिए क्रमशः विदुषी अश्विनी भिड़े देशपांडे एवं पंडित वेंकटेश कुमार को राष्ट्रीय कालिदास सम्मान से अलंकृत किया गया। दोनों ही विभूतियां कतिपय कारणों से ये सम्मान ग्रहण करने नहीं आ सकीं सो उन्हीं के आग्रह पर प्रख्यात कलाविद एवं कला समीक्षक शशि व्यास ने ये सम्मान ग्रहण किया। सम्मान स्वरूप तीनों कलाकारों को 2-2 लाख की आयकर मुक्त राशि शॉल एवं श्रीफल प्रदान किए। इस मौके पर उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी के सहायक निदेशक राहुल रस्तोगी भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- छात्रों के लिए काम की खबर, 15 जनवरी तक करा सकते हैं फॉर्म में करेक्शन


बहरहाल, सभा का आगाज़ शंकर गान्धर्व संगीत महाविद्यालय के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के ध्रुपद गायन से हुआ। राग यमन में चौताल की बंदिश के बोल थे - "जय शारदा भवानी"। प्रस्तुति में पखावज पर मुन्नालाल भट्ट एवं हारमोनियम पर नारायण काटे ने साथ दिया। इसके बाद पहली प्रस्तुति में अर्जेंटीना के देसिएतों आनंदते ने विश्व संगीत की प्रस्तुति दी। देसीएतों ने एकॉस्टिक गिटार के साथ कई धुनें और सांग्स पेश किए। उन्होंने कई स्पेनिश सांग्स लेटिनो अमेरिकी रिदम पर पेश किए। आपने बोलेरो स्टाइल में सालसा स्टाइल में कई गीत पेश किए । इनमें साबोर ए एम इंनोविडबल खास हैं।

देसीएतो मूलतः लेटिन मूल के हैं और दुनिया भर में अपनी प्रस्तुतियां देते हैं। अगले कलाकार थे कालिदास सम्मान से विभूषित पंडित अभय नारायण मालिक। 85 की उम्र के अभय नारायन का संगीत के प्रति समर्पण प्रेरणादायक है। हालांकि, गाने में अब उम्र साथ नहीं देती पर फिर भी अपने पुत्र एवं शिष्य रंजीत मलिक एवं परिजन रंजीव मलिक अजय पाठक राजन मलिक अभिषेक पाठक के साथ उन्होंने ध्रुपद के सुर लगाए। पहली प्रस्तुति राग विहाग की थी। धमार में बंदिश के बोल थे- 'कहां ते आए हो गोपाल गुलाल लगाए' इस बंदिश को उन्होंने पुरजोर तरीके से पेश किया।

यह भी पढ़ें- सीएम बघेल ने किए मां कालिका और खेरुआ सरकार के दर्शन, पंचायत चुनाव पर कही ये बात


अगली बंदिश सूलताल में राग मालकौंस की रही। बंदिश के बोल थे 'आवन कह गए अजहुं न आए'। इस बंदिश को भी आपने पूरे मनोयोग से पेश किया। आपके साथ पखावज पर संगीत पाठक एवं रानू मलिक ने संगत की जबकि सारंगी पर भारतभूषण गोस्वामी एवं आबिद हुसैन ने साथ दिया। तानपुरे पर सुश्री लता मलिक दुबे ने साथ दिया।

सनी लियोनी के ठुमकों से मचा सियासी बवाल- देखें Video

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Uttarakhand Election 2022: रुद्रप्रयाग में अमित शाह ने पूछा, कैसी सरकार चाहिए, विकास या भ्रष्टाचार वाली?शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानापूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM ModiCorona: गुजरात में कोरोना को मात दे चुके हैं 10 लाख से अधिक लोगकाशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.