कोरोना कफ्र्यू में सामान बेचना पड़ा भारी, प्रशासन ने दुकानों को किया सील

अंबाह. लॉक डाउन का उल्लंघन कारोबार करने वाले आधा दर्जन दुकानदारों की दुकानें सील कर दी गई हैं। जबकि कोरोनेा गाइड लाइन का उल्लंघन कर लगुन-फलदान में सामूहिक भोज एवं सामाजिक दूरी के नियम का पालन करने पर दो लोगों के विरूद्ध पुलिस ने प्रशासन के हस्तक्षेप पर प्रकरण दर्ज किया है। एसडीएम राजीव समाधिया, एसडीओपी अशोक जादौन और प्रभारी तहसीलदार राजकुमार नागोरिया के निर्देशन में यह कार्रवाई की गई।

By: Vikash Tripathi

Updated: 21 Apr 2021, 11:52 PM IST

लॉक डाउन के बावजूद दुकानें खोलकर और सामान बेचकर कोरोना संक्रमण का खतरा बढा रहे दुकानदारों पर कार्रवाई की गई है। इनमें वार्ड पांच में चूडी बेचने का कारोबार करने वाले नीलेश लाक्षाकार, इसी वार्ड में प्रेम ***** हाउस, वार्ड 12 में चिरपुरा रोड पर राकेश सैनी की किराना स्टोर, सदर बाजार में हरी गुप्ता की चूता-चप्पल की दुकान, सब्जी मंडी में एक सब्जी कीदुकान, सुरेश राठी की पीजी कॉलेज के बगल से किराने कीदुकान, सब्जीमंडी में मुन्नालाल उपाध्याय के सामने दर्जी की दुकान, सदर बाजार में जीतू गुप्ता की किराने की दुकान लॉक डाउन में सामान बेचने के आरोप में सील की गई है। एसडीएम समाधिया ने कहा कि यह जनता की जान-माल का मामला है, इसलिए लॉक डाउन का उल्लघन करने पर दुकानों को सील किया गया है। आगामी आदेश तक सील रहेंगी।
बिना अनुमति के हो रहा था लगुन फलदान कार्यक्रम मामला दर्ज
कोरोना गाइड लाइन में शादी समारोहों के आयोजनों को सीमित कर दिया गया है। लेकिन इसके बावजूद अंबाह थाना क्षेत्र खांद का पुरा में सीमाराम तोमर के लडके विक्रम तोमर सोनी की लगुन फलदान समारोह में स्वयं के निवास पर सामूहिक आयोजन किया गया। इसकी सूचना मिलने पर एएसआई विवेक सिंह तोमर गांव मेंपहुंची ओर देखा कि लगुन-फलदान समारोह में करीब 60 से ज्यादा लोग शामिल थे। आयोजकों में सीताराम सिंह तोमर जो लडके बाप हैं और उनके भाई राधोश्याम सिंह तोमर आयोजक के तौर पर सामने आए। अधिकारियों ने उनसे इस आयोजन की अनुमति के दस्तावेज मांगे। लेकिन कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाए। इसके बाद पुलिस ने धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए नोटिस तामील कराया और प्रकरण दर्ज कर लिया।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned