स्वतंत्रता से जीने का अधिकार देता है संविधान

विक्रांत इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ में कार्यक्रम

By: Mahesh Gupta

Updated: 27 Nov 2020, 04:57 PM IST

ग्वालियर.
विक्रांत इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ में कार्यक्रम

विक्रांत इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ की ओर से संविधान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम हुआ। मुख्य अतिथि ऋ तुराज ंिसंह चौहान (अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश), विशिष्ट अतिथि संजय जैन (मुख्य न्याय दण्डाधिकारी), गेस्ट ऑफ ऑनर डॉ. राखी चौहान (संविधान विशेषज्ञ) उपस्थित रहे। विक्रांत समूह के चेयरमैन आरएस राठौर ने कार्यक्रम की शुरुआत की। मुख्य अतिथि ने बताया कि देश के हर वर्ग के व्यक्तियों को विधिक सहायता के लिए योजनाएं चलाई जा रही हैं, परंतु जानकारी के अभाव में वे इन सुविधाओं का लाभ नहीं ले पाते। डॉ. राखी ने बताया कि देश में रहने वाले प्रत्येक वर्ग को समानता एवं स्वतंत्रता से रहने के लिए संविधान में प्रावधान बनाए गए हैं। संजय जैन ने भारत की न्यायपीठ द्वारा संचालित लीगल एड क्लीनिक एवं लीगल लिट्रेसी क्लब के बारे में बताया। उन्होंने इसी प्राधिकरण के अंतर्गत आमजन के विभिन्न विधिक मामलों के निराकरण के लिए चलाई जा रही लोक अदालत के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। इस अवसर पर सभी ने अपने संविधान को सुरक्षित रखने की शपथ भी ली। अंत में सभी अतिथियों को संस्थान का स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। इस अवसर पर डीएमडी जगविंदर कौर, लॉ कॉलेज की प्राचार्य डॉ. एनके चौहान, विभागाध्यक्ष लॉ प्रो. आशीष यादव, डायरेक्टर डॉ. संजय सिंह कुशवाह उपस्थित रहे।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned