दो मासूमों की जिंदगी निगल गया तालाब का भ्रष्टाचार

तालाब का किनारा कच्चे होने से पैर फिसलने से गिरे बालक

By: Vikash Tripathi

Published: 22 Jul 2021, 11:56 PM IST

भिण्ड.जिले के मेहगांव जनपद के ग्राम पंचायत मुस्तरी अंतर्गत मजरा इमलिया में १४ लाख ९९ हजार रुपए की लागत से दर्शाए गए पक्के तालाब के भ्रष्टाचार ने दो मासूमों की जिंदगी निगल ली हैं। बतादें कि मासूम बकरियां चराने के लिए हार में अपनी दादी के साथ गए थे। कागजों में पक्के दर्शाए गए तालाब के अधिकांश हिस्से को कच्चा ही छोड़ दिया गया था। ऐसे में तालाब किनारे पर बरसात से हुई फिसलन से बच्चे फिसलकर गिर गए।
१२ वर्षीय अभिषेक जाटव पुत्र मुकेश जाटव निवासी इमलिया मेहगांव अपने १० वर्षीय चचेरे भाई अंकुश जाटव पुत्र मनोज जाटव को लेकर दादी के साथ गए थे। उनकी बकरियां तालाब किनारे पर थीं जिन्हें दोनों बालक वहां से हटाकर खेत में ले जाने के लिए जा रहे थे। इसी दौरान अंकुश का पैर फिसल गया और वह तालब में गिर गया। उसे बचाने के प्रयास में अभिषेक भी फिसलकर पानी की गहराई में चला गया। आसपास कोई मौजूद नहीं होने के कारण बच्चों को बचाने के लिए त्वरित रूप से बचाव कार्य नहीं हो पाया। लिहाजा उनकी बुजुर्ग दादी चीख चिल्लाकर दूर खेतों पर काम कर रहे लोगों को बुलाने का प्रयास करती रहीं। जब तक लोग तालाब के पास पहुंचे बच्चे डूब गए थे। घटना की सूचना पर मेहगांव थाना पुलिस मौके पर पहुंची। तदुपरांत बच्चों को पानी से बाहर निकलवाने के लिए रेस्क्यू शुरू कराया गया। करीब आधा घंटे चले रेस्क्यू के बाद अभिषेक जाटव व अंकुश जाटव के शव मिल गए।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned